‘देश में संघ की 57 हजार शाखाएं, 2019 तक 1 लाख पहुंच सकती है संख्‍या’

rss2_1468293314

कानपुर. ‘देश में आरएसएस की करीब 57 हजार शाखाएं खुल चुकी हैं। साल 2019 तक इसकी संख्या 1 लाख तक पहुंच सकती है।’ शहर के बिठूर इलाके में आरएसएस के चल रहे प्रांतीय प्रचारकों के चिंतन शिविर में सोमवार को यह जानकारी दी गई।

मनगढंत खबरें चला रही मीडिया

– अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक के चीफ मनमोहन जी वैद्य ने मीडिया से बातचीत में कहा कि मीडिया बिना फैक्‍ट्स के मनगढंत खबरें चला रही है।
– मीडिया से गुहार लगाई कि कोई भी चीजें बिना किसी फैक्‍ट के न लिखें।
– आगे कहा कि ये चिंतन शिविर संघ का है, इससे सिविल का कोई सरोकार नहीं है।

संघ में लोगों की रूचि बढ़ी

– वैद्य ने कहा कि साल 2010 से देश की जनता में संघ के प्रति रूचि बढ़ी है।
– इसका नतीजा ये रहा कि साल 2015 तक संघ की पूरे देश में करीब 12 हजार शाखाएं खुल चुकी हैं।
– वर्तमान में पूरे देश में कुल 57 हजार शाखाएं काम कर रही हैं।
– अनुमान के मुताबिक, साल 2019 तक संघ की देशभर में करीब 1 लाख शाखाएं होने की उम्मीद है।

चुनाव के लिए काम नहीं करती आरएसएस

– इस चिंतन शिविर को यूपी के विधानसभा चुनाव से जोड़े जाने पर मनमोहन जी ने कहा कि संघ कोई भी काम चुनाव की दृष्टि से नहीं करता है।
– संघ का काम संगठन को मजबूत बनाने का है। समाज में भटके युवाओं में संस्कार लाने का है।
– इसके अलावा ग्रामीण विकास, कुटुंब प्रयोजल, गौ संवर्धन और सामाजिक सम्रत्व जैसी गतिविधियों पर काम करना संघ का उद्देश्‍य है।
सुरेश सोनी को लेकर क्या कहा?

– पिछले एक साल से संघ से दूरी बनाकर चल रहे सह सर कार्यवाहक सुरेश सोनी के संगठन में वापस जुड़ने और एक्टिव होने पर मनमोहन जी ने कहा कि उन्होंने कुछ जरूरी कामों की वजह से अवकाश लिया था।
– लेकिन उनका रोल संगठन में बहुत अहम है। वो इस समय सह सर कार्यवाहक हैं।
– वहीं, यूपी विधानसभा चुनाव में सुरेश सोनी के रोल पर कहा कि संगठन कब, किसको, कहां की जिम्मेदारी सौंपता है, ये संघ का निजी मामला है।

42 प्रांत के प्रचारक आए हैं चिंता शिविर में

– चिंतन शिविर में 42 प्रांत के प्रचारक आए हैं। 13 जुलाई तक अभ्यास सत्र चलेगा।

– इसके बाद 14 और 15 जुलाई को मीटिंग होगी, जिसमें संघ के प्रमुख कार्यकर्ता और क्षेत्रीय कार्यकर्ता भी शामिल होंगे।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India, Politics

Related Articles