केजरीवाल ने साफ बर्तन धोकर की सेवा, उठा विवाद

केजरीवाल ने साफ बर्तन धोकर की सेवा, उठा विवाद

kejriwal_washed_sewa_18_07_2016

अमृतसर। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल रविवार व सोमवारी की दरमियानी रात अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में थे। रात तीन बजे केजरीवाल स्वर्ण मंदिर में भूलबक्श यानी माफी मांगने के लिए पहुंचे थे। सिख धर्मग्रंथ के अपमान को लेकर उठे विवाद से अपना पीछा छुड़ाने के लिए अरविंद केजरीवाल यहां पहुंचे थे, लेकिन यहां बर्तन साफ करने को लेकर नए विवाद में घिर गए हैं।

अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में एक विवाद से पीछा छुड़ाने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सेवा देने के लिए पहुंचे थे। लेकिन बताया जा रहा है कि उन्होंने जिन बर्तनों को साफ किया, असल में वे पहले से ही साफ थे। यानी साफ बर्तन को ही साफ करके केजरीवाल भूल की माफी के लिए अपनी सेवा दे रहे थे। अब देखना यह है कि केजरीवाल इस पर अपनी क्या सफाई देते हैं।

इससे पहले, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार तड़के अमृतसर के स्वर्ण मंदिर पहुंचे और उन्होंने वहां बर्तन धोकर सेवा की। पंजाब में कुछ हफ्ते पहले सिखों से जुड़े कुछ मुद्दों पर विवाद खड़ा हो जाने के बाद केजरीवाल ने कहा कि अनजाने में हम लोगों से कुछ गलतियां हो गई थीं, उसी की क्षमायाचना के लिए दरबार साहेब में हम लोगों ने सेवा की है। सेवा करने से मन को बहुत शांति मिली।

वहीं, रविवार को अमृतसर पहुंचने पर आप संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल को कड़े विरोध का सामना करना पड़ा था। आम आदमी पार्टी के यूथ मेनिफेस्टो पर श्री दरबार साहिब की तस्वीर के समक्ष झाडू लगाने और मैनिफेस्टो की तुलना श्री गुरु ग्रंथ साहिब व श्रीमदभागवत गीता से करने की बेअदबी के मामले को शांत करने के लिए केजरीवाल अमृतसर पहुंचे थे।

रविवार शाम को जैसे ही केजरीवाल के श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचने की सूचना मिली तो सिख व हिंदू संगठन विरोध के लिए लामबंद हो गए। धर्म जागरण समन्वय मंच ने प्रदेश सह संयोजक दिनेश शर्मा व संत समाज के नेतृत्व में एयरपोर्ट रोड पर उन्हें काली झंडियां दिखाई। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को सड़क से खदेड़ते हुए केजरीवाल की गाड़ियों के काफिले को आगे निकाला।

इसके बाद संत समाज के प्रतिनिधियों स्वामी स्वरूपानंद, साध्वी आत्म ज्योति और विभाग के सह संयोजक दिनेश शर्मा के नेतृत्व में लोगों ने गुमटाला जेल के बाहर केजरीवाल के काफिले को घेर लिया और जमकर नारेबाजी शुरू कर दी। यहां भी पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे धार्मिक संगठनों के प्रतिनिधियों को खदेड़ते हुए बड़ी मुश्किल से काफिले को निकाला।

दिनेश शर्मा ने कहा कि केजरीवाल हिन्दू व सिख विरोधी हैं और वे मुसलमानों के एजेंट हैं। धर्म का अनादर करना उनकी फितरत है, जिसे हिन्दू समाज कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। कहा कि केजरीवाल जहां जाएंगे, हिदू समाज विरोध करेगा।

Courtesy: Naidunia.jagran.com

Categories: India, Politics

Related Articles