चीन ने पहली दफा भारत के अंदरूनी मामले पर दी प्रतिक्रिया, कांग्रेस ने पीएम को घेरा

चीन ने पहली दफा भारत के अंदरूनी मामले पर दी प्रतिक्रिया, कांग्रेस ने पीएम को घेरा

congress-attacks-pm-modis-silence-on-kashmir-and-chinas-concern-over-it_1469271369

ऐसा पहली बार है जब चीन ने भारत के अंदरूनी मामले पर उंगली उठाई हो, चीन ने कश्मीर के हालात चीन पर भारत सरकार को निपटने तक की नसीहत दे डाली। इस बात को मुद्दा बनाकर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरा है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा कि इतिहास में पहले कभी ऐसा नहीं हुआ जब  ने भारत के अंदरूनी मामलों में दखल देने की हिम्मत की हो।

सिब्बल ने कहा कि मौजूदा सरकार की विदेश नीति में परिपक्वता की कमी दिखती है, यही वजह है कि चीन की कश्मीर के हालात पर चिंता जताने की हिम्मत हुई। उन्होंने कहा कि चीन भारत के मामलों में प्रत्यक्ष हत्क्षेप कर रहा है।

सिब्बल ने कहा कि पीएम मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज संसद में चीन को जवाब दे सकते थे, लेकिन वे चुप रहे। सिब्बल की मानें तो बीती 19 जुलाई को चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कश्मीर पर बयान दिया था। उसने कहा था कि चीन को उम्मीद है कि कश्मीर के हालात से सही ढंग निपटा जाएगा।

congress-attacks-pm-modis-silence-on-kashmir-and-chinas-concern-over-it_1469271537

इसके अलावा सिब्बल ने पीएम मोदी को ऊना के दलित मामले पर भी घेरा और कहा कि गोरखपुर में उन्होंने बड़ी-बड़ी बातें कीं, लेकिन दलितों के बारे में पीएम खामोश रहें। उन्होंने कहा कि पीएम ने कश्मीर तक के बारे में चुप्पी साध रखी है, जबकि कश्मीर के लोग इंतजार कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री कुछ बोलें।

सिब्बल की मानें तो इतनी बड़ी घटना के बावजूद पीएम मौन हैं, जबकि सूबे उन्हीं की सरकार है।

सिब्बल ने यहां तक कहा कि पीएम मोदी को बसपा नेता मायावती से माफी मांगनी चाहिए थी। यही नहीं कांग्रेस नेता ने ऊना के पीड़ितों को 10-10 लाख रुपए बतौर मुआवजा देने की मांग की।

Courtesy: Amarujala

Categories: India, International, Politics

Related Articles