आरएसएस एक गैर-पंजीकृत संस्था : दिग्विज सिंह

Digvijaya-Singh-580x395

पणजी: कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने दावा किया कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) गैर-पंजीकृत संस्था है और उसे वाषिर्क रूप से मिलने वाले धन, विशेष रूप से ‘गुरू पूर्णिमा को’, की जानकारी सार्वजनिक करने को कहा.

समन्वय समिति की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद उन्होंने कहा, ‘‘एक गैर पंजीकृत संगठन को प्रतिबंधित करने का कोई सवाल ही नहीं है. आपने बार-बार आरएसएस को प्रतिबंधित करने की मांग की है, आपको पता है आरएसएस पंजीकृत संगठन नहीं है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘वे (आरएसएस) गुरू पूर्णिमा को बड़ी राशि इकट्ठा करते हैं, जिसका कोई लेखा-जोखा नहीं होता. गुरू दक्षिणा के रूप में आरएसएस को कितना धन मिलता है? उसका क्या कभी कोई हिसाब लिया गया है?’’ दिग्विजय ने कहा, ‘‘क्योंकि गैर-पंजीकृत संगठन आरएसएस किसी अधिनियम के तहत नहीं आता है. यह धन कहां जाता है? इसका खुलासा आरएसएस को करना चाहिए.’’

गुजरात के उना में मृत गाय की चमड़ी उतारने पर दलितों की पिटाई के मामले में सवाल करने पर, दिग्विजय ने दावा किया कि हमले के लिए जिम्मेदार संगठन भी पंजीकृत नहीं है और उसके सदस्य स्थानीय पुलिस की शह पर धन उगाहने वाले गुंडे हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘आप ऐसे संगठन को कैसे प्रतिबंधित कर सकते हैं? पंजीकृत संगठन कहां हैं? क्या उन्हें कानून के तहत नैतिक पुलिसिंग का अधिकार दिया गया है? क्या उनके पास जिसे मन में आए पीटने का अधिकार है?’’

Courtesy: ABP News

Categories: India, Politics

Related Articles