डोपिंग में फंसे नरसिंह के समर्थन में कुश्ती संघ ने कहा, ‘खाने में महिला के दवा मिलाने का शक’

डोपिंग में फंसे नरसिंह के समर्थन में कुश्ती संघ ने कहा, ‘खाने में महिला के दवा मिलाने का शक’

narsingh-pancham-yadav-wrestler-wrestling_501f64e4-16b7-11e6-976e-c52fa8d2ca82-580x395

नई दिल्ली: डोपिंग विवाद में फंसे पहलवान नरसिंह यादव के समर्थन में कुश्ती संघ खुलकर सामने आ गया है. जी हां इससे ये साफ हो गया है कि 74 किग्रा वर्ग में हिस्सा लेने जा रहे नरसिंह की ओलंपिक में जाने की उम्मीद अभी बाकी हैं. कुश्ती संघ ने साफतौर पर कहा कि नरसिंह यादव साजिश का शिकार हुए हैं और सोनीपत कैंप के दौरान उनके खाने में एक महिला ने उनके खाने में दवा मिलाई थी.

नरसिंह के समर्थन में कुश्ती संघ:

brijbhushan-
रियो ओलंपिक में 74 किग्रा वर्ग में भारत का प्रतीनिधित्व करने जाने से पहले डोपिंग में फंसे नरसिंह यादव के समर्थन में आज डबल्यूएफआई के अध्यक्ष बृजभूषण शरम ने प्रेस कॉंफ्रेंस करते हुए नरसिेंह के खिलाफ साजिश होने का शक ज़ाहिर किया.

कुश्ती संघ अधय्क्ष ने साइ डीजी इंजेती श्रीनिवास पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा ‘साइ डीजी ने नरसिंह को सोनीपत केंद्र में अभ्यास नहीं करने की चेतावनी दी थी.’ जिसके बाद भी नरसिंह सोनीपत कैंप में हिस्सा लेने गया जहां पर उसके खाने में कुछ मिला दिया गया और उसे और उसके साथी को डोप टेस्ट में फंसना पड़ा.

कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण ने सोनीपत कैंप की एक महिला इंचार्ज पर साज़िश का शक जताया है. जिन्होंने नरसिंह के खाने में कुछ मिला दिया. इसके साथ ही कुश्ती संघ के अध्यक्ष ने कहा ‘अगर उसने जानबूझ कर ड्रग्स लिया होता तो वो स्पेन में टूर्नामेंट खेलने नहीं जाता. स्पेन के टूर्नामेंट से भी वो मेडल लेकर आया.’ बृजभूषण शरण ने कहा कि ‘एक महीने में तीन बार किसी खिलाड़ी का डोप टेस्ट होना भी संदेह पैदा करता है कि कहीं ना कहीं कोई साज़िश जरूर है.’

इस बीच नरसिंह यादव के साथ-साथ एक और इंडियन रेसलर संदीप तुलसी यादव भी डोपिंग टेस्ट में फेल हो गए हैं. 2013 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में ब्रॉन्ज मेडेल जीत चुके संदीप नरसिंह के रूम पार्टनर हैं. उनके शरीर में भी वही ड्रग्स पाए गए है जो नरसिंह के शरीर से मिले थे.

इस घटना के बाद नरसिंह यादव के रियो ओलंपिक में जाने की उम्मीदों पर बृजभूषण ने कहा कि उन्होंने अंतराष्ट्रीय इकाई से नरसिंह को न्याय दिलाने तक मौके का मांगा है.

इससे पहले डोप टेस्ट में फेल होने वाले पहलवान नरसिंह यादव ने भी कहा था कि वह बेकसूर हैं और यह पूरा मामला उनके खिलाफ साजिश का है.

नरसिंह ने कहा था,‘‘यह मेरे खिलाफ साजिश है. मैने कभी कोई प्रतिबंधित पदार्थ नहीं लिया है.’’ भारतीय कुश्ती महासंघ ने भी इसमें साजिश का आरोप लगाते हुए कहा कि नरसिंह का पाक साफ इतिहास रहा है और यह षडयंत्र है. महासंघ के सूत्रों ने कहा ,‘‘इसमें साजिश हुई है. नरसिंह का पाक साफ इतिहास रहा है. उसके खिलाफ साजिश हुई है.’’

नरसिंह और सुशील कुमार में था विवाद:

Sushil_Narsingh-Yadav-300x179

पिछले साल विश्व चैम्पियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाले नरसिंह का रियो ओलंपिक के लिये चयन विवादित हालात में हुआ था क्योंकि ओलंपिक के दोहरे पदक विजेता सुशील ने 74 किलो वर्ग में दावेदारी ठोकी थी. नरसिंह ने चूंकि विश्व चैम्पियनशिप के जरिये कोटा हासिल किया था डब्ल्यूएफआई और दिल्ली हाई कोर्ट दोनों ने सुशील की मांग खारिज कर दी थी. नरसिंह को हालांकि इसके लिये लंबी कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी थी.

Courtesy: ABP News

Categories: Sports

Related Articles