बसपा-भाजपा की लड़ाई पर बोले आजम, ‘दो बदतमीज लड़ रहे, मैं क्या बोलूं’

बसपा-भाजपा की लड़ाई पर बोले आजम, ‘दो बदतमीज लड़ रहे, मैं क्या बोलूं’

azam-khan-2_1457842501

सूबे के चर्चित मंत्री मोहम्मद आजम खां अपने बयानों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। रविवार को भी वह अपने मिजाज के अनुरूप नजर अए। ‘माननीय’ से लेकर ‘बादशाह’ तक पर खास अंदाज में टिप्पणी की। इलेक्ट्रानिक मीडिया पर भी खुलकर निशाना साधा और अवाम को इससे दूरी बनाकर रखने की नसीहत दी। प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खां रविवार को ई-रिक्शा वितरण कार्यक्रम में शिरकत करने आए थे। चलते-चलते वह मीडिया से भी मुखातिब हुए। बसपा-भाजपा के सियासी टकराव के सवाल पर उन्होंने कहा- दो बदतमीज लड़ रहे हैं, अब मैं क्या कहूं। सियासत में अब कैसे दिन देखने को मिल रहे हैं। मर्यादा नाम की कोई चीज नहीं रह गई। कोई पिल्ला कह रहा है, कोई कुत्ता बता रहा है। साध्वियां ऐसे शब्दों का इस्तेमाल कर रही हैं, जो उनके चरित्र से मेल नहीं खाते। फिर बोले, फिरकापरस्त ताकतें उनको पाकिस्तान भेज रही हैं। कुछ बेहूदा लोग उन्हें आधा मुख्यमंत्री बता रहे हैं लेकिन वे भूल रहे हैं कि मैं पूरा प्रधानमंत्री हूं।

कबीना मंत्री ने मोदी पर तंज कसा, बादशाह सौ दिन में हर किसी के खाते में लाखों रुपये आने की बात कहकर सत्ता में आए थे। जब सौ दिन में रकम खातों में नहीं ला पाए तो सैर पर निकल लिए। बादशाह जो कर सकते हैं मैं क्यों नहीं कर सकता। मैं चाय बना सकता हूं, ड्रम बजा सकता हूं, नपीरी भी बजाकर दिखा सकता हूं। ऐसा क्या है जो मैं नहीं कर सकता, तो मैं प्रधानमंत्री हुआ कि नहीं…हां ये अलग बात है कि मुझे कोई प्रधानमंत्री न बनाए।

राज्यपाल की टिप्पणियों पर आजम ने कहा-पता नहीं महामहिम को उनसे क्या बैर है। नगर विकास मंत्रालय का बिल लटका रखा है। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। खैर, ये उनका मिजाज है। आजम यहीं नहीं रुके। उन्होंने इलेक्ट्रानिक मीडिया को देश के लिए खतरनाक बताते हुए इससे दूर रहने की सलाह तक दे डाली। बोले, ये आधा सच दिखाते हैं। बलात्कार को दिखाते हैं लेकिन बलात्कारी को नहीं। हत्या को दिखाते हैं, हत्यारे को नहीं। इनसे अवाम को सतर्क रहने की जरूरत है।

Courtesy: Amarujala

Categories: Politics, Regional