सातवें वेतन आयोग के परफार्मेंस नियम से भड़के केंद्रीय कर्मचारी, करेंगे आंदोलन

सातवें वेतन आयोग के परफार्मेंस नियम से भड़के केंद्रीय कर्मचारी, करेंगे आंदोलन

Shiv-gopal-Mishra-0

इलाहाबाद: सातवें वेतन आयोग में कर्मचारियों का प्रमोशन और इंक्रीमेंट इंडिविजुअल, परफार्मेंशन के आधार पर किए जाने से केंद्रीय कर्मचारी बेहद नाराज़ हैं. उनका मानना है कि इससे अफसरों की मनमानी बढ़ेगी और ईमानदार कर्मचारियों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा.

इस बारे में आल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन के महासचिव शिव गोपाल मिश्र का कहना है कि केंद्र सरकार के इस फैसले से अफसर अपने मातहतों का शोषण करेंगे. वह कमियों और मनमानी के खिलाफ आवाज़ उठाने वाले कर्मचारियों को कमज़ोर बताएंगे और चमचागिरी करने वालों की परफार्मेंस बेहतर साबित करने की कोशिश करेंगे.

शिव गोपाल मिश्र के मुताबिक़, काम के आधार पर इंडिविजुअल परफार्मेंस का नियम तो बना दिया गया है लेकिन व्यवहारिक तौर पर इसका कोई पैरामीटर नहीं है. इलाहाबाद में इस मुद्दे पर रेल कर्मचारियों के साथ बैठक करने आए शिव गोपाल मिश्र का कहना है कि केंद्रीय कर्मचारी संगठनों को यह फैसला कतई मंजूर नहीं है.

इस बारे में सरकार को जानकारी दे दी गई है. सरकार को यह फैसला बदलने के लिए चार महीने की मोहलत दी गई है. अगर केंद्र सरकार ने चार महीनों में यह फैसला नहीं बदला तो कर्मचारी सड़कों पर उतरकर आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे. इलाहाबाद के दूसरे कर्मचारी नेताओं ने भी इस फैसले को कर्मचारी विरोधी करार दिया है और कहा है कि इससे सरकारी अफसर तानाशाह हो जाएंगे.

Courtesy: ABPNews

Categories: Finance, India

Related Articles