गर्भवती और दो वर्ष के बेटे को गोलियों से भूना

गर्भवती और दो वर्ष के बेटे को गोलियों से भूना

27_07_2016-26mawa13-c-1.5

परीक्षितगढ़(मेरठ) : घर के अंदर मां-बेटे को गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया गया। पति ने मौके से भागकर जान बचाई। महिला चार माह की गर्भवती थी। पति ने आठ लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। कत्ल की वजह साफ नहीं है। महिला के पति का भी आपराधिक इतिहास है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

किला परीक्षितगढ़ के सौदत गांव में शाहिद उर्फ बादल का परिवार रहता है। शाहिद किला परीक्षितगढ़ थाने का हिस्ट्रीशीटर है। उस पर लूट और हत्या के कई मुकदमे हैं। 2012 में टीपीनगर में धनंजय जैन के घर हुई डकैती में भी शाहिद मुख्य आरोपी था। सोमवार रात करीब दो बजे शाहिद के घर पर आठ-दस बदमाशों ने धावा बोल दिया। शाहिद ने कुंडी नहीं खोली तो बदमाश खिड़की के शीशे तोड़कर अंदर घुस गए। शाहिद छत के रास्ते भाग गया। बदमाशों ने शाहिद की पत्‍‌नी जुबैदा की छाती में दो गोली मारी। चारपाई पर सो रहे जुबैदा के दो वर्ष के बच्चे आहद के सीने में भी एक गोली मारी गई। गोलियों की आवाज सुन आसपास के लोगों की भीड़ जब मौके पर पहुंची तब तक हमलावर भाग चुके थे। हमलावरों के भागने के बाद शाहिद भी घर के अंदर पहुंच गया। शाहिद ने आठ लोगों को नामजद किया है। नामजद किए गए सभी आरोपी शाहिद के गैंग में काम कर चुके है। फोरेंसिक टीम ने मौके पर साक्ष्य जुटाए।

ये हुए नामजद

अनीस, शौकीन, समीर, गफ्फार, इमरान , वसीम निवासी मुंडाली, तसकीन, मतीन निवासी गढ़ और एक अज्ञात।

क्या है कत्ल की वजह, कातिल कौन?

-हमलावरों के आने के समय शाहिद टीवी देख रहा था। हमलावरों के आने पर छत पर जाने की बात कह रहा है। शाहिद ने तीन बार बयान बदले। छत पर जाने का रास्ता नहीं है, न ही पुलिस को साक्ष्य मिले। पुलिस को शाहिद पर भी शक है,लेकिन वह बेटे की हत्या क्यों करेगा?

– शाहिद ने जिन आठ लोगों को नामजद किया हैं, उनके साथ लूट और हत्या की वारदातों में शामिल रह चुका है। कहीं रकम के बंटवारे का विवाद तो नहीं। कातिलों को किसी ने भी नहीं देखा है। रकम न देनी पड़े इसलिए तो कत्ल कर नामजदगी नहीं कराई?

– प्रेम प्रसंग तो नहीं। शाहिद ने डबल गेम खेला हो। जुबैदा और आहद की हत्या कराकर अपने दुश्मनों को नामजद कर दिया और पत्नी से छुटकारा पा लिया। लेकिन बेटे का कत्ल क्यों? इसका जवाब नहीं है।

इन्होंने कहा..

आठ लोगों को नामजद किया गया है। सभी आरोपी फरार बताए जा रहे हैं। पुलिस चार बिंदुओं पर हत्या की वजह तलाश रही है। महिला का पति भी शक के दायरे में है।

-जे रविंदर गौड, एसएसपी ।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime, Regional
Tags: Crime, Meerut, Murder

Related Articles