कब्रिस्तान में मिली रहस्यमयी सुंरग, 105 KM है खुफिया रास्ते की लंबाई

कब्रिस्तान में मिली रहस्यमयी सुंरग, 105 KM है खुफिया रास्ते की लंबाई

bvcbxcbcvbv_1469647136

आरा (बिहार).यहां के सहार कब्रिस्तान के पास बुधवार को एक सुरंगनुमा स्थान मिलने से पूरे दिन लोगों के बीच कौतूहल बना रहा। 10-12 इंच व्यास व 10 फीट गहरे आकार के इस गड्ढे को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। बता दें कि इसमें इस्तेमाल ईंटें काफी पुरानी हैं और इन्हें तमाम किस्सों से जोड़कर देखा जा रहा है।आखिर क्या है इस सुरंग की सच्चाई, गांववालों ने क्या बताया…

– बता दें कि आरा की इस भूमि से पूर्व में वीर कुंवर सिंह ने अंग्रेजों से मोर्चा लिया था। लोगों का कहना है कि उस वक्त वे इसी सुरंग के रास्ते ही आरा और जगदीशपुर जाते थे।

– आरा से जगदीशपुर की दूरी 105 किलो मीटर है, इसी आधार पर कुछ लोगों ने सुरंग की लंबाई 105 किमी तक होने का दावा किया।

– वैसे इस जगह को स्थानीय लोग मोर्चा के नाम से ही जानते हैं। बुधवार को सुरंगनुमा गड्ढे के बारे में तब पता चला जब यहां सुबह किसी जानवर का पैर पड़ गया।

– बाद में देखने पर सुरंग जैसा गड्ढा मिला। आसपास के लोगों की मानें तो 1857 में बाबू कुंवर सिंह ने अंग्रेजों से लड़ाई में मोर्चा लिया था।

– सहार में भी सोन नदी के किनारे सुरंग थे। बुजुर्गों के अनुसार कुवंर सिंह के जमीन के अंदर सुरंग हैं जो आरा और जगदीशपुर में निकलता है।

– उस दौरान बाबू कुंवर सिंह सुरंग के रास्ते ही आरा व जगदीशपुर तक आते जाते थे।

पुलिस ने कहा अभी कुछ नहीं स्पष्ट

bvnvncbnb_1469647124

– हालांकि जांच के अभाव में अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका कि यह सुरंग है या कुछ और।

– उधर, सहार थानाध्यक्ष ने इस बारे में बताया कि वे भी वहां गए थे। शुरुआती जांच में सुरंग नहीं लग रहा है।

– उन्होंने कहा एक्सपर्ट सही तरीके से इसके बारे में बता सकते हैं। वैसे कुछ लोग इसे पुराना बंद हो चुका शौचालय भी बता रहे हैं।

Courtesy: Bhaskar.com

 

Categories: Crime, India