प्रवेश के लिए एचबीटीआई में भटके छात्र

29_07_2016-28mti-08-c-2

कानपुर: उत्तर प्रदेश राज्य प्रवेश परीक्षा (यूपीएसईई) की काउंसलिंग के जरिए गुरुवार को एचबीटीआई में प्रवेश लेने पहुंचे कई छात्र दिनभर भटकते रहे। छात्रों को रजिस्ट्रेशन से लेकर फीस जमा करने की सही जानकारी न मिलने के कारण वह शाम तक अपना काम कराते रहे। काउंसलिंग के पहले, दूसरे, तीसरे व चौथे चरण में शामिल करीब दो सौ छात्र सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, फूड व आयल टेक्नोलॉजी समेत अन्य ब्रांच में प्रवेश लेने के लिए पहुंचे।

मैनपुरी व कन्नौज के इंजीनिय¨रग कालेजों की प्रवेश प्रक्रिया भी एचबीटीआई में होनी है। क्योंकि एचबीटीआई को मिलाकर तीन कालेज में प्रवेश के लिए एचबीटीआई परिसर को ही रिपोर्टिग सेंटर बनाया गया है। बांदा, गोरखपुर, बहराइच, बस्ती व हरदोई समेत अन्य शहरों से प्रवेश के लिए पहुंचे छात्रों को अपना काम कराने में पूरा दिन लग गया। ग्रामीण क्षेत्रों से अपने बच्चे को प्रवेश दिलाने के लिए पहुंचने वाले अभिभावकों को सबसे ज्यादा असुविधा हुई। क्योंकि शहर व कैंपस दोनों उनके लिए नए थे।

सभागार में दी गई थी पूरी जानकारी :

एचबीटीआई के कार्यवाहक निदेशक प्रो. डीबी शाक्यवार का कहना है कि प्रवेश संबंधित पूरी जानकारी छात्रों को सभागार में दी गई थी। इंस्टीट्यूट बड़ा होने के साथ साथ छात्रों के लिए नया भी था इसलिए उन्हें उन कमरों को तलाशने में समय लगा होगा जहां उनका काम होना था। बैंक ड्राफ्ट बनाने से लेकर छात्रों के प्रपत्रों की फोटो कापी करवाने तक की व्यवस्था कैंपस में की गई थी।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Regional