यूपी में कांग्रेस की रणनीति का लिटमस टेस्ट आज, राहुल गांधी करेंगे उद्घोष

यूपी में कांग्रेस की रणनीति का लिटमस टेस्ट आज, राहुल गांधी करेंगे उद्घोष

r1

कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर का पहला टेस्ट शुक्रवार को राजधानी में होगा। यहां कार्यकर्ताओं के साथ होने वाले राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी के उद्घोष कार्यक्रम से उनका रिपोर्ट कार्ड तय हो जाएगा। साथ ही यह भी पता चलेगा कि सूबे में प्रशांत किशोर की रणनीति का कितना असर आगामी चुनाव में पड़ने वाला है।

दरअसल, पीके ने ही बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं का राहुल गांधी के साथ उद्घोष कार्यक्रम रखा है। टिकट चाहने वाले कांग्रेसी उम्मीदवारों के भरोसे यह कार्यक्रम हो रहा है। प्रशांत ने टिकट दावेदारों से उनके यहां के बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के नाम-पते व फोन नंबरों की सूची मांगी थी। इन्हीं कार्यकर्ताओं को उद्घोष कार्यक्रम में बुलाया गया है।

कांग्रेस नेताओं ने इस कार्यक्रम में 50 हजार कार्यकर्ताओं के शामिल होने का दावा किया है। राहुल गांधी यहां कार्यकर्ताओं से सीधे बात करेंगे। यह कार्यक्रम इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि पिछले पांच महीने से पीके ने यूपी के लिए जो रणनीति बनाई है, उसका पहला शो शुक्रवार को होने जा रहा है। इससे पहले वह कई स्तर के नेताओं के साथ सीधे मीटिंग कर उनका फीडबैक ले चुके हैं।

खास बात यह कि उद्घोष कार्यक्रम प्रशांत किशोर ने ही तय किया है। इसे सफल बनाने की कमान भी उन्हीं की टीम ने संभाल रखी है। कांग्रेस ‘27 साल यूपी बेहाल’ थीम को लेकर 2017 के चुनाव में उतर रही है। कांग्रेस ने अपना प्रचार अभियान भी इसी थीम को लेकर शुरू किया है। शुक्रवार का उद्घोष कार्यक्रम इसी का हिस्सा है।

कार्यकर्ताओं के 50 सवालों का जवाब देंगे राहुल

r2

कांग्रेस कार्यकर्ता राहुल गांधी से सीधे सवाल कर सकते हैं। हालांकि, सवाल उन्हें पहले से लिखकर देना होगा। ढेर सारे सवालों में से 50 सवाल रेंडम तरीके से चुने जाएंगे। राहुल इनके जवाब देंगे।

इस कार्यक्रम में 50 हजार लोगों के पंजीकरण के लिए 30 नियंत्रण कक्ष और 90 पंजीकरण डेस्क स्थापित किए गए हैं। हर डेस्क पर लगभग एक हजार लोगों का पंजीकरण होगा।

कांग्रेस कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन सत्यदेव त्रिपाठी ने बताया कि समय की पाबंदी के कारण कार्यक्रम के दौरान सीमित संख्या में ही सवाल किए जा सकते हैं। अत: कार्यक्रम के बाद और भी सवालों के जवाब दिए जाएंगे जिन्हें सोशल मीडिया पर प्रसारित किया जाएगा।

पंजीकरण सुबह नौ बजे से होगा। औपचारिक रूप से कार्यक्रम दोपहर 12:30 बजे शुरू होगा। वरिष्ठ कांग्रेस नेता सम्बोधित करेंगे। राहुल दोपहर 2:30 बजे कार्यक्रम स्थल पहुंचकर तीन बजे से कार्यकर्ताओं से बातचीत शुरू करेंगे। रात आठ बजे वह दिल्ली लौट जाएंगे।

राज बब्बर पहुंचे लखनऊ, कार्यक्रम स्थल का लिया जायजा

r3

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर बृहस्पतिवार को दिल्ली से लखनऊ पहुंच गए। अमौसी एयरपोर्ट से सीधे रमाबाई अंबेडकर कार्यक्रम स्थल जाकर उन्होंने वहां चल रही तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान प्रशांत किशोर भी वहां मौजूद थे।
उन्होंने कार्यक्रम के बारे में विस्तार से बात की। इससे पहले कम्युनिकेशन विभाग के चेयरमैन सत्यदेव त्रिपाठी, उपाध्यक्ष वीरेन्द्र मदान, मारूफ खान सहित कई नेताओं ने मौके पर जाकर तैयारियों को देखा।

बैनर व होर्डिंग से प्रदेश प्रभारी नदारद
कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के लिए ‘27 साल यूपी बेहाल’ थीम से बैनर व होर्डिंग का जो डिजाइन भेजा है उससे राष्ट्रीय महासचिव व यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद गायब हैं। कोऑर्डिनेशन कमेटी के चेयरमैन प्रमोद तिवारी को भी इसमें जगह नहीं मिल पाई है।

बीच में खाली छोड़ दी गई हैं दो जगहें

r4

एआईसीसी ने होर्डिंग व बैनर का जो डिजाइन भेजा है उसके बाएं तरफ राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी व उपाध्यक्ष राहुल गांधी की तस्वीर है जबकि दाहिनी ओर प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित व प्रचार समिति के चेयरमैन संजय सिंह हैं। बीच में दो सर्किल खाली छोड़े गए हैं। इसमें स्थानीय नेता अपने मनपसंद नेताओं की तस्वीर लगा सकते हैं।

होर्डिंग के ऊपरी हिस्से में महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, सरदार पटेल, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, भीमराव अंबेडकर, लाल बहादुर शास्त्री, इंदिरा गांधी व राजीव गांधी आदि नेताओं के फोटो लगे हैं। जबकि इससे प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद गायब हैं।

एक वरिष्ठ कांगेसी नेता ने कहा, हो सकता है कि यह बिहार की रणनीति के तहत किया गया हो। बिहार चुनाव में भी कांग्रेस ने किसी मुस्लिम चेहरे को प्रचार में आगे नहीं किया था।

वहीं, प्रमोद तिवारी के लिए यह कहा जा रहा है कि सपा से नजदीकी के कारण उन्हें मेन होर्डिंग से दूर रखा गया है। पार्टी फिलहाल चुनाव में किसी विवाद में नहीं पड़ना चाहती। हालांकि आधिकारिक रूप से कांग्रेस इस बारे में कुछ नहीं बोल रही है।

Courtesy: Amarujala

Categories: Politics, Regional

Related Articles