गुजरात: ज़हर पीने वाले दलित की मौत

gujratdalit

गुजरात में 11 जुलाई को दलितों की कथित पिटाई के ख़िलाफ़ जिन लोगों ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी, उनमें से एक दलित युवक की रविवार को मौत हो गई है.

बीते 11 जुलाई को गुजरात के उना इलाक़े में सौराष्ट्र के विभिन्न क्षेत्रों में कुल 21 दलितों ने ज़हर पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी. ये लोग गौरक्षकों द्वारा दलितों की कथित पिटाई का विरोध कर रहे थे.

राजकोट के योगेश सारखडी की अहमदाबाद सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है. अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक रविवार सुबह चार बजे योगेश की मौत हुई.

वहीं दूसरी तरफ़ अहमदाबाद में उना अत्याचार विरोधी समिति ने दलित महासम्मेलन आयोजित किया. इसमें फ़ैसला किया है गया है कि गटरों में उतर कर सफ़ाई और मरे हुए जानवरों से जुड़ा काम पूरे राज्य में रोक दिया जाएगा.

सम्मेलन में गुजरात के विभिन्न इलाकों से बड़ी संख्या में दलित शरीक हुए.

दलित आत्याचार विरोध समिति के संयोजक जीज्ञेश मेलाणी ने बीबीसी को बताया, “सम्मेलन में आने वालों को रोकने के लिए प्रशासन ने काफ़ी कोशिश की, बावजूद इसके 25 हज़ार से ज़्यादा लोग एकत्रित हुए.”

इस सम्मेलन में दलितों ने सामूहिक रूप से फ़ैसला किया है कि गटरों में उतर कर सफ़ाई और मरे हुए जानवरों का काम पूरे राज्य में रोक दिया जाएगा.

Courtesy- BBC

Categories: India
Tags: Dalit, Gujarat, una