मनोहर पर्रिकर के बयान पर राहुल का तीखा हमला, नफरत फैलाना कायरों का काम है

Kolkata: Congress Vice President Rahul Gandhi addresses an election campaign rally in Kolkata on Thursday. PTI Photo by Ashok Bhaumik (PTI5_8_2014_000223B)

पुणे: पिछले साल आमिर खान के असहिष्णुता संबंधित बयान ने अभी तक उनका पीछा नहीं छोड़ा है। इस बार रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आमिर खान का बगैर नाम लिए उन पर निशाना साधा है। आमिर के इस पुराने बयान को याद करते हुए पर्रिकर ने कहा कि ‘एक अभिनेता ने कहा है कि उनकी पत्नी भारत से बाहर जाना चाहती है। यह दंभपूर्ण बयान है। यदि मैं गरीब हूं और मेरा घर छोटा है तो क्या हुआ…मैं तब भी अपने घर से प्यार करूंगा और हमेशा उसे बंगला बनाने का सपना देखूंगा।’
सबक सिखाया जाना चाहिए’
पर्रिकर ने जेएनयू में देशविरोधी नारेबाजी की घटना का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए पर्रिकर ने यह भी कहा कि‘कैसे कुछ लोगों को देश के विरोध में बोलने का साहस हो जाता है। ऐसे लोग जो देश के खिलाफ बोलते हैं, उन्हें इस देश के लोगों द्वारा सबक सिखाए जाने की जरूरत है।’ गौरतलब है कि पिछले साल नवंबर में आमिर खान ने कहा था कि वह महसूस करते हैं कि पिछले छह से आठ महीने में देश में असुरक्षा और भय की भावना बढ़ी है। उन्होंने कहा था कि ‘मैं जब घर पर किरण के साथ बात करता हूं, वह कहती हैं कि क्या हमें भारत से बाहर चले जाना चाहिए?’

पर्रिकर ने इस बात की तरफ भी इशारा किया कि किस तरह कई लोगों ने आमिर के इस बयान का विरोध करते हुए उस ऑनलाइन शॉपिंग साइट के मोबाइल एप का बहिष्कार कर दिया था जिसके वह ब्रांड एम्बेसेडर थे, साथ ही फर्म ने भी आमिर के साथ विज्ञापन से हाथ खींच लिया था।

राहुल का कड़ा विरोध

इसपर राहुल गांधी ने ट्वीट करके अपना कड़ा विरोध दर्ज किया। उनके ट्विटर हैंडल @officeofRG से ट्वीट आया “आरएसएस और पर्रिकर सबको सबक सीखना चाहते हैं। आपके लिए एक सबक है- नफरत कायरता की निशानी है और वो कभी जीत नहीं सकती”

Categories: Politics

Related Articles