महाशिवरात्रि आज, मंदिरों में कावड़ियों के साथ उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

महाशिवरात्रि आज, मंदिरों में कावड़ियों के साथ उमड़ा श्रद्धालुओं का सैलाब

SAWAN-2-580x395

नई दिल्ली:   महाशिवरात्रि के पावन पर्व पर आज देश भर के मंदिरों में शिव भक्त जलाभिषेक कर रहे हैं. आधी रात से ही शिव और राजा दक्ष प्रजापति के मंदिरों में शिव के जलाभिषेक के लिए भोले के भक्तों की कतारें लगनी शुरू हो गई.

वहीं, मान्यता है कि सावन में एक महीने तक शिव अपनी ससुराल कनखल के दक्ष प्रजापति मंदिर में ही रहते है. इस दौरान जो भी यहां पर भोलेनाथ की पूजा अर्चना करता है उसकी सभी मनोकामनाए पूरी होती हैं. मान्यता ये भी है कि सावन महीने में ही माता पार्वती ने भगवान शंकर को प्राप्त करने के लिए तपस्या कि थी.

भोले के भक्तो में भगवान शंकर का जलाभिषेक करने की इतनी ललक है की वे रात से ही हरिद्वार में स्थित दक्ष प्रजापति महादेव पहुच गए थे. हालाकि तब मंदिर के कपाट बंद थे मगर इससे उनके उत्साह में कोई कमी नहीं आई और वे सभी लाइन लगाकर मंदिर खुलने का इंतजार करने लगे और जब दक्ष मंदिर के कपट खुले तो इनका उत्साह देखने लायक ही था.

भक्तों की माने तो सावन में भगवान शंकर कनखल में ही विराजते है और इस दौरान भगवान शंकर का जलाभिषेक करने वाले की सभी कामनाये पूरी हो जाती है. शिव भक्तों का मानना है कि शिवरात्रि पर दक्ष प्रजापति महादेव मंदिर में भोले नाथ का विधिविधान ने अभिषेक किया जाये तो सभी कामनाये पूरी हो जाती हैं.

गुरु पूर्णिमा से शुरू हुई कावड़ यात्रा आज भगवान् भोले के जलाभिषेक के साथ संपन्न हो गयी.  भोले के भक्त मनोकामना पूरी होने पर अगले वर्ष दोबारा जल चढाने का संकल्प लेकर अपने अपने घरों को लौट गए, हालाकि सावन का मेला अभी जारी रहेगा.

Courtesy: ABP News

Categories: India

Related Articles