बुलंदशहर के बाद बरेली हाईवे पर शिक्षिका से गैंगरेप, दरिंदों ने रेप कर खींची तस्वीरें

बुलंदशहर के बाद बरेली हाईवे पर शिक्षिका से गैंगरेप, दरिंदों ने रेप कर खींची तस्वीरें

rape-shimla_1468772761

बुलंदशहर कांड की सनसनी अभी थमी नहीं कि बरेली में भी दिल्ली हाईवे किनारे एक निजी स्कूल की शिक्षिका से तीन दरिंदों ने अगवाकर गैंगरेप कर डाला। सुबह सात बजे शिक्षिका स्कूल जाने के लिए घर से निकली थी तभी बीच रास्ते से वैन सवार तीन युवकों ने उसका अपहरण कर लिया और परसाखेड़ा इंडस्ट्रियल एरिया के आगे खेत के पास ले गए और वहां वैन में ही रेप किया।

इस दौरान फोटो भी खींच लिये। डरी सहमी शिक्षिका घर पहुंची और परिजनों को जानकारी दी। दिन भर सदमे में रहे परिवार ने शाम साढ़े चार बजे के करीब सीबीगंज थाने में सूचना दी तो खलबली मच गई। पुलिस के आला अफसर मौके पर पहुंच गए। तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ गैंगरेप और धमकाने का मुकदमा दर्ज किया गया है, अपहरण की धारा नहीं लगायी गई है।

इस मामले में आईजी जोन के आदेश पर सीबी गंज थाने के इंस्पेक्टर राकेश कुमार को निलंबित कर दिया गया है। वहीं डीजीपी और प्रमुख सचिव गृह ने स्थानीय वरिष्ठ अधिकारियों से पूरे मामले की रिपोर्ट तलब कर ली है। शहर से सटे सीबीगंज थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली अविवाहित 19 वर्षीय युवती इलाके के ही एक पब्लिक स्कूल में शिक्षिका है। सुबह सात बजे वह स्कूल के लिए निकली।

जब एक किलोमीटर आगे खड़ौआ रोड पर शिव ज्ञान डिग्री कॉलेज के पास पहुंची तो वैन सवार तीन युवकों ने उसे रोका। जब तक वह कुछ समझ पाती कि मुंह पर हाथ रखकर उसे वैन में डाल लिया। वहां से वे उसे वैन लखनऊ दिल्ली हाईवे (एनएच-24) के किनारे परसाखेड़ा इंडस्ट्रियल एरिया से लगे रोड नंबर एक पर बंडिया के एक खेत के पास ले गए।

दरिंदों ने शिक्षिका की तस्वीरें भी खींची  

rape-victim_1469864940

वैन में ही शिक्षिका को हवस का शिकार बनाया। शिक्षिका के कपड़े भी फाड़ दिए और इस दौरान उसके फोटो खींच लिये। इसके बाद दरिंदे उसे मथुरापुर चौराहे पर छोड़ गए। धमकी दी कि यदि किसी को घटना के बारे में बताया तो फोटो इंटरनेट पर डाल देंगे। किसी तरह छुपते-छुपाते करीब एक किलोमीटर चलने के बाद शिक्षिका अपने घर पहुंची।

उसकी हालत देखकर घर वालों ने पूछा तो उसने सारी बात बता दी। शाम को करीब साढ़े चार बजे उसके परिजन शिक्षिका को लेकर सीबीगंज थाने पहुंचे। सनसनीखेज खबर सुनकर आईजी विजय सिंह मीणा, डीआईजी आशुतोष कुमार, एसएसपी आरके भारद्वाज, एसपी सिटी समीर सौरभ समेत तमाम अफसर मौके पर पहुंच गए।

शिक्षिका की मां की ओर से दी गई तहरीर पर गैंगरेप की धारा 376 डी और जान से मारने की धमकी की धारा 506 के तहत तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सर्च अभियान चलाया गया। पुलिस शिक्षिका को लेकर मौके पर गई और तीन घंटे तक उसे वहीं टहलाती रही, इसके बाद वापस थाने लाकर पूछताछ में जुट गए। देर शाम उसे मेडिकल के लिए अस्पताल लाया गया।

फोरेंसिक टीम और पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाने की कोशिश की लेकिन अभी कोई खास क्लू हाथ नहीं लगा है। वैन किसकी थी इस बारे में कोई जानकारी नहीं हो पायी है। दुष्कर्मियों की पहचान भी नहीं हो पायी है।

Courtesy: Amarujala

Categories: Crime, Regional

Related Articles