जब 9 लाख 57 हजार करोड़ की मालकिन बनी थी ये महिला, आते हैं खौफनाक सपने

जब 9 लाख 57 हजार करोड़ की मालकिन बनी थी ये महिला, आते हैं खौफनाक सपने

kanpur-urmila-became-richest-woman-in-the-world

rich_1470147813
rich3_1470147816
rich2_1470147815
rich7_1470147820
rich1_1470147814
rich5_1470147818
rich4_1470147817
rich6_1470147819

कानपुर. एक झटके में बिल ग्रेट्स से अमीर बनने वाले महिला आज भी डर के साए में जीती है। रात में सोते समय अचानक जाग जाती है और कहती है कि दरवाजे पर इनकम टैक्‍स के अफसर तो नहीं आए हैं।

कुछ ऐसे हैं 2015 में एक झटके में अमीर बनी इस महिला के सपने
– कानपुर की उर्मिला यादव की शादी 2006 में रामलखन से हुई थी।

– रामलखन सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं। महीने की पगार 5 हजार रुपए है।

– एक माध्यम वर्गीय परिवार में पली-बढ़ी उर्मिला के भी बहुत सपने हैं।
– वह अपने परिवार के सभी बच्चों के नाम 50-50 लाख रुपए फिक्स करना चाहती हैं।
– गरीबो को दान देना, एक मंदिर बनवाना, शहर में जरूरत के अनुसार गरीब लोगों के रहने के लिए शेल्टर हाउस बनवाना चाहती हैं।
– खुद के लिए एक आलीशान घर और एक छोटी कार लेना चाहती हैं।
– इतना ही नहीं, मोहल्ले में किसी भी लड़की की शादी में जरूरत के हिसाब से सहयोग करना चाहती हैं।

ऐसे बिल ग्रेट्स से अमीर बनी थी ये महिला
– उर्मिला ने बताया, पिछले साल जून महीने में मैंने स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया की यूपी स्टेट इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (UPSIDC) ब्रांच में 1000 रुपए में खाता खुलवाया था।
– 29 जुलाई को अपनी पासबुक अपडेट कराने बैंक पहुंची थीं।
– पासबुक में एंट्री के बाद मेरे सेविंग अकाउंट में 9 लाख 57 हजार करोड़ रुपए जमा दिखा रहे थे।

– इतनी बड़ी रकम देख मैं हैरान थी, थोड़ी देर तक मैं बैंक में ही बैठ गई।
– इसकी जानकारी जब मैंने बैंक अफसरों को दी तो उनके भी होश उड़ गए।

– मैंने अफसरों से कहा, ”साहब ये रुपया जिसका हो उसको बोल दो कि वो आकर लेते जाए। गलती से किसी का पैसा हमारे खाते में आ गया है।”

जानें उर्मिला के खाते में कितने हैं रुपए
– स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के मैनेजर मिस्‍टर श्रीवास्तव के मुताबिक, ये नंबर उर्मिला के पासबुक में मिस प्रिंट हुआ था। उनके खाते में महज 2 हजार रुपए हैं।

– उर्मिला ने बताया, बैंक की एक गलती की वजह से मैं महीनों बीमार रही। कई दिनों तक मेरे सिर में दर्द होता रहा।
– सपने में रुपए ही रुपए नजर आते थे। इन रुपए को लेकर मेरे मन में हमेशा एक डर बैठा रहता था।
– दरवाजे पर आज भी जब भी कोई आहट होती है तो मन में डर बैठ जाता है।
– मुझे लगता था कि मेरे अकाउंट में आए रुपए को लेकर कही बैंक के अफसर या पुलिस तो नहीं आ गई।

– मुझे ढेरों रुपए की चाह नहीं है, बस उतना चाहती हूं, जितने में परिवार खुश रहे।
– पति रामलखन के मुताबिक, पत्नी के साथ जो हुआ वो कोई डरवाने सपने से कम नहीं था।
– उन रुपयों ने पत्नी को मशहूर तो कर दिया, लेकिन उसके साथ-साथ परेशानियां भी लेकर आ गई।

Courtesy: bhaskar.com

Categories: India

Related Articles