अमेठी परिसर के 148 छात्रों का कोर्स पूरा कराएगा ट्रिपलआइटी

जासं, इलाहाबाद : भारतीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी संस्थान ‘ट्रिपलआइटी’ पर अब 148 अतिरिक्त छात्रों के पाठ्यक्रम को पूरा करने का दायित्व होगा। अमेठी स्थित परिसर के बंद होने के कारण यह स्थित उत्पन्न हुई है। ये सभी छात्र-छात्राएं बीटेक आईटी के हैं। अमेठी छोड़ने वाले स्टूडेंटस की संख्या 148 है। अमेठी परिसर बंद होने के कारण अब भविष्य में संस्थान की 75 सीटों पर कभी दाखिला नहीं हो पाएगा। नए प्रस्ताव के अंतर्गत अब इन सीटों को देश की चार ट्रिपलआइटी में भेजे जाने का निर्णय लिया गया है। ये सीटें इलाहाबाद सेंटर को स्थानांतरित नहीं की जाएंगी। निदेशक प्रो. जीसी नंदी ने बताया अमेठी में पढ़ाई के लिए इलाहाबाद से ही शिक्षक जाया करते थे। अमेठी से जितने भी छात्रों को इलाहाबाद परिसर में लाया गया है वह सभी बीटेक आइटी में तीसरे और पांचवे सेमेस्टर छात्र हैं। अमेठी में केवल एक ही ब्रांच में दाखिला लिया जाता था। अब यहां स्थानांतरित तीसरे और पांचवे सेमेस्टर के छात्र अपना बीटेक का सम्पूर्ण पाठ्यक्रम पूरा करेंगे। भविष्य में अमेठी परिसर के लिए कोई भी दाखिला नहीं होगा। यह सीटें देश की चार आइटी में बांटे जाने का प्रस्ताव है। उन्होंने बताया कि उस परिसर में केवल एक स्थायी शिक्षक की नियुक्ति की गई थी। गौरतलब है कि अमेठी परिसर को ट्रिपलआइटी प्रशासन पहले ही अमेटी परिसर के संचालन को लेकर हाथ खड़े कर चुका था। यही वजह थी कि भारत सरकार की हाईपावर कमेटी ने अमेठी परिसर को इलाहाबाद ट्रिपलआइटी से अलग कर दिया।

बीबीएयू का कौशल विकास केंद्र बना अमेठी परिसर

अमेटी स्थित ट्रिपलआइटी का विस्तार केंद्र कहलाए जाने वाला परिसर अब बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर केंद्रीय विवि लखनऊ के अधीन होगा। यह सेंटर अब कौशल विकास केंद्र के रूप में जाना जाएगा। नेशनल स्किल डेवलपमेंट कारपोरेशन ने भी यहां पर अपने कोर्स संचालन की संस्तुति प्रदान कर दी है।

और पढ़ें:

अमेठी-रायबरेली में परियोजनाओं के बंद होने का मामला संसद में गूंजा

अमेठी से फ़ूड पार्क, पेपर मिल के बाद अब आई आई आई टी (IIIT) छिना मोदी सरकार ने

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics, Regional

Related Articles