PAK का दावा-गुस्से में सार्क समिट छोड़ गए थे राजनाथ; इंडियन डेलिगेशन से पाक के अफसरों की 2 बार हुई तीखी बहस

PAK का दावा-गुस्से में सार्क समिट छोड़ गए थे राजनाथ; इंडियन डेलिगेशन से पाक के अफसरों की 2 बार हुई तीखी बहस

raj_1470364280

नई दिल्ली/इस्लामाबाद.पाकिस्तान का दावा है कि राजनाथ सिंह ने इस्लामाबाद में हुई सार्क देशों के होम मिनिस्टर्स की कॉन्फ्रेंस गुस्से में बीच में छोड़ दी थी। उसका कहना है कि जैसे ही पाकिस्तान की तरफ से कश्मीर का मसला उठा तो राजनाथ सिंह नाराज हो गए। वेन्यू से जाने के बाद राजनाथ ने पाकिस्तानी काउंटरपार्ट चौधरी निसार अली के साथ लंच करने की बजाय होटल में लंच किया। ये भी खुलासा हुआ है कि जब राजनाथ वेन्यू से चले गए तो इंडियन डेलिगेशन के साथ पाकिस्तान के अफसरों ने दो बार बहस भी की। राजनाथ आज संसद में बयान दे सकते हैं। क्या कहा जा रहा है पाकिस्तान में….

– पाकिस्तान के इंटीरियर मिनिस्टर ने गुरुवार रात एक बयान जारी किया। इसमें उन्होंने भारत का नाम लिए बिना कश्मीर में दमन का आरोप लगाया गया है।

– इससे पहले, सार्क कॉन्फ्रेंस में अपनी स्पीच के दौरान भी चौधरी निसार ने कश्मीर में कथित ज्यादतियों के लिए भारत को जिम्मेदार ठहराया था।

– वहीं, अफगानिस्तान और भूटान के होम मिनिस्टर्स के बाद राजनाथ ने समिट में स्पीच दी थी। इसमें उन्होंने पाकिस्तान पर जमकर निशाना साधा था।

लिखी हुई स्पीच को स्किप कर गए निसार अली

– निसार अली समिट में रिटन स्पीच पढ़ रहे थे। लेकिन उन्होंने स्पीच को बीच में रोककर कश्मीर में भारतीय फौज की ज्यादातियों को मुद्दा उठा दिया।

– इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, राजनाथ इससे ही नाराज हुए थे। निसार की स्पीच के बाद लंच हुआ। निसार इसमें नहीं पहुंचे। राजनाथ ने भी लंच छोड़ दिया।

– बताया जाता है कि जब राजनाथ और इंडियन डेलीगेशन पाकिस्तान से रवाना हो रहा था तो उन्हें विदाई देने के लिए वहां का कोई सीनियर अफसर भी नहीं आया था।

दो बार हुई बहस

– इंडियन डेलीगेशन ने पाकिस्तानी अफसरों को बताया कि इंडियन पार्लियामेंट का सेशन चल रहा है। इसलिए सिंह को जल्दी भारत पहुंचना होगा।

– इसके बावजूद पाकिस्तान के अफसरों ने दो बार भारतीय डेलिगेशन के साथ बहस हुई। अफसरों के बीच तीखी बयानबाजी हुई।

निसार ने बाद में क्या कहा?

– राजनाथ के भारत लौटने के बाद निसार अली खुद मीडिया के सामने आए। उन्होंने भारत का नाम लिए बिना कश्मीर में भारतीय फौज की ज्यादातियों का जिक्र किया।

– खान ने कहा- बेकसूर बच्चों और दूसरे सिविलियन्स को टॉर्चर करना गलत है। ये भी एक तरह का टेरेरिज्म है। भारत बातचीत के बजाए ताकत के दम पर कश्मीर का मसला हल करना चाहता है।
– राजनाथ ने समिट के दौरान पठानकोट, काबुल, मुंबई और ढाका में हुए आतंकी हमलों का जिक्र किया था।

– निसार ने इस पर कहा कि उनका देश भी आतंकवाद के कारण कई बेकसूर लोगों को खो चुका है।

– उन्होंने इस बात से भी इनकार किया कि पाकिस्तान में टीवी चैनलों को राजनाथ की स्पीच कवर करने से रोका गया था।

– पाकिस्तान का कहना है कि सार्क देशों की कॉन्फ्रेंस में ऐसा ही होता आया है कि मेजबान देश की स्पीच ही कवर की जाती है।

और पढ़ें : 20 घंटे में ही भारत लौटे राजनाथ, सार्क सम्मेलन में पाक को दिखाया आईना

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India, International, Politics