अब ‘ISIS के आतंक की मास्टरनी’ खोलेगी बड़े राज!

अब ‘ISIS के आतंक की मास्टरनी’ खोलेगी बड़े राज!

keral-is-yasmin-1-580x395नई दिल्ली: आतंकी संगठन आईएसआईएस से कनेक्शन के शक में यास्मिन अहमद को दिल्ली एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया गया है. ये गिरफ्तारी तब हुई जब यास्मिन काबुल के लिए फ्लाइट पकड़ने वाली थी. उस समय यास्मिन का 5 साल का बेटा भी उसके साथ था. पुलिस के मुताबिक यास्मीन भी केरल से गायब हुए 21 लोगों की तरह आईएसआईएस में शामिल होने के लिए भाग रही थी.

अब्दुल राशिद ने किया युवाओं का ब्रेनवॉश
यास्मीन और उसके पहले गायब हो चुके 21 लोगों के मामले में पुलिस के रडार पर जो शख्स है उसका नाम अब्दुल राशिद है. रशीद खास मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. जिस पर आरोप लगा है कि उसने तमाम युवाओं का ब्रेनवॉश किया.

पीस स्कूल में टीचर रह चुकी है यास्मिन
केरल के मल्लापुरम में पीस इंटरनेशनल स्कूल में यास्मीन इंग्लिश की टीचर रह चुकी है. स्कूल के मुताबिक राशिद भी गायब होने के पहले तक इस स्कूल से जुड़ा हुआ था. वो खुद पीस स्कूल में तमाम टीचर का ट्रेनर था. राशिद अपनी पत्नी और बच्चों के साथ पहले ही देश छोड़ चुका है.

keral-is-yasmin-2

 

क्या है पीस इंटरनेशनल स्कूल और आईएसआईएस के बीच कनेक्शन?
केरल का जाकिर नाईक कहे जाने वाले 48 साल के इस्लाम प्रचारक एम एम अकबर का इंटरनेशनल पीस स्कूल देश की जांच एजेंसियों के रडार पर है. यास्मीन शेख केरल के मल्लापुरम जिले में पीस इंटरनेशनल स्कूल में अंग्रेजी की टीचर थी. यास्मिन से केरल पुलिस को उन 21 लापता छात्रों के बारे में सुराग मिलने की उम्मीद है, जिनके IS में शामिल होने का शक है. उनमें से 17 छात्र उसी पीस स्कूल में पढ़ते थे जहां यास्मिन टीचर थी.

स्कूल पर इस्लाम थोपने का आरोप
एम एम अकबर ने 2006 में पीस स्कूल शुरू किया था. अकबर की संस्था पीस एजुकेशन फाउंडेशन पीस स्कूल चलाती है. केरल, तमिलनाडु और कर्नाटक में एम एम अकबर के 13 पीस स्कूल हैं. इनमें आठ हजार से ज्यादा छात्र पढ़ते हैं. पीस स्कूल में बारहवीं तक पढ़ाई होती है. आरोप है कि अकबर के स्कूलों में ख़ास तौर पर इस्लाम थोपा जाता है और उसके मायने सिखाये जाते है.

3 दिन की पुलिस कस्टडी में है यास्मिन, खुलेंगे कई राज़
दिल्ली में गिरफ्तार करने के बाद यास्मीन को कासरगोड कोर्ट में पेश किया गया जहां उसे पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है. यास्मिन से जानकारी उगलवाने के लिए पुलिस ने 3 दिन की कस्टडी मांगी. इन 3 दिनों में पुलिस पता लगाएगी कि वो रशीद के साथ संपर्क में कैसे आई. पुलिस सूत्रों के मुताबिक रशीद के साथ कई बैंक ट्रांसेक्शन भी हुए हैं और लगातार वो रशीद के संपर्क में थी.

यास्मिन के रिश्ते सुलझाने के बहाने यास्मिन- राशिद आए करीब
यास्मीन का परिवार सऊदी में रहता है. उसके पति का नाम सईद अहमद है लेकिन दोनो के बीच रिश्ते अच्छे नहीं थे. सूत्रों के मुताबिक दोनो के रिश्ते सुलझाने के बहाने राशिद, यास्मीन के संपर्क में आया यहां तक कि पीस इंटरनेशलन स्कूल में यास्मीन और राशिद को पति-पत्नी समझा जाने लगा था हालांकि उन्होने अपनी शादी रजिस्टर नहीं करवाई थी.

कासरगाड से लापता हुए हैं कई लोग
केरल से लापता 21 लोगों में से 17 कासरगोड के रहने वाले थे. माना जा रहा है कि ये लोग आईएसआईएस में शामिल होने के मकसद से सीरिया पहुंच चुके हैं. कासरगोड पुलिस को उम्मीद है कि अब लापता लोगों के बारे में जल्द ही कुछ सुराग मिल सकता है.

गायब हुए 21 लोगों के साथ देश से बाहर जाने की फिराक में थी यास्मिन
एबीपी न्यूज़ को मिली जानकारी के मुताबिक यास्मीन केरल के उन्हीं 21 लोगों के साथ देश से बाहर जाना चाहती थी जो लापता हैं लेकिन डॉक्यूमेंट्स पूरे न होने की वजह से ही वो उनके साथ नहीं जा पाई जबकि राशिद 6 महीने पहले ही देश छोड़ चुका है.

बेस्टिन और मरियम भी ISIS में शामिल हो चुके हैं. पीआरओ राशिद और उसकी पत्नी आयशा भी गायब हैं. एक साथ इतने सारे लोगों का गायब होना और सबका पीस इंटरनेशनल स्कूल से जुड़े होना कई सवाल खड़े करता है.

Courtesy: ABPNews

Categories: Crime, India

Related Articles