बीच बहस में टीवी एंकर से ही भिड़ गए भारतीय गौरक्षा दल के नेता, कहा… मोदी जी कौन हैं… 80 प्रतिशत संसद में बैठे हुए हैं करप्ट और रेपिस्ट

बीच बहस में टीवी एंकर से ही भिड़ गए भारतीय गौरक्षा दल के नेता, कहा… मोदी जी कौन हैं… 80 प्रतिशत संसद में बैठे हुए हैं करप्ट और रेपिस्ट

भारतीय गौरक्षा दल के चेयरमैन ने कहा अब बीजेपी सेकुलरिज्म का चोला पहनना चाहती है।

 

pm-modi-620x400

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गौरक्षकों पर दिए गए बयान पर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा है। खुद को पीएम मोदी का समर्थक बताने वाले कई लोग और संगठन उनके बयान से नाराज हैं। इन लोगों में एक हैं हरियाणा के भारतीय गौरक्षा दल के चेयरमैन पवन पंडित जिन्होंने सोमवार को एक राष्ट्रीय चैनल पर लाइव टीवी डिबेट में पूछ लिया है, “…कौन हैं पीएम मोदी?” पवन पंडित पीएम मोदी के उस बयान से बेहद नाराज नजर आ रहे थे जिसमें उन्होंने कहा था कि 80 प्रतिशत गौरक्षक रात में एंटी-सोशल गतिविधियों में लिप्त रहते हैं।

मोदी ने राज्य सरकारों से गौरक्षा के नाम पर हिंसा करने वालों का डोजियर निकाल कार्रवाई करने के लिए भी कहा था। मोदी के इन बयानों पर लाल-पीले हो रहे पंडित ने बहस में शामिल बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी को चुनौती देते हुए कहा, “मैं कहता हूं 80 प्रतिशत संसद में बैठे हुए करप्ट हैं रेपिस्ट हैं, निकालिए डोजियर….70 प्रतिशत मुस्लिम बीफ खाते हैं निकालिए डोजियर…?” निडी न्यूज चैनल एबीपी न्यूज़ पर “मोदी के गुस्से से मिटेगा दलित-गौरक्षक विवाद” विषय पर हुई बहस में गौरक्षा दल के चेयरमैन पवन पंडित के अलावा बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी, कांग्रेसी नेता पीएल पुनिया और विश्व हिन्दू परिषद के श्रीराज नायक शामिल थे।

पंडित बीजेपी नेता सुधांशु त्रिवेदी से बार-बार पीएम मोदी के बयानों की सफाई मांग रहे थे। पंडित ने बहस में आरोप लगाया कि “अब बीजेपी हिन्दुत्व की राजनीति नहीं करना चाहती, वो ओबामा की राजनीतिक करना चाहती है… भारतीय जनता पार्टी सेकुलरिज्म का चोला पहनना चाहती है…” पंडित विशेषकर पीएम मोदी की भाषा को लेकर आहत थे। उन्होंने बहस में कहा कि मुझे गोली मार दो….ऐसे गौरक्षकों का डोजियर निकालो…कैसी भाषा है ये…ये एक देश के प्रधानमंत्री की भाषा है।

बीच बहस में पंडित कार्यक्रम की एंकर नेहा पंत से उलझ पड़े। पंडित स्टूडियो में एंकर की तरफ मुड़कर बहस करने लगे तो पंत को उन्हें कहना पड़ा, “आप पहले तो कैमरे पर देखिए सर…”

शनिवार को नई दिल्ली में टाउनहाल कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा था कि गौसवकों के नाम पर कुछ लोगों ने अपनी दुकानें खोल ली हैं और कुछ लोग रात में गैर-कानूनी काम करते हैं और दिन में गौसेवक बन जाते हैं। उसके बाद रविवार को तेलंगाना में एक रैली में पीएम मोदी ने कहा कि ये फर्जी गौरक्षक जो हैं, इनकी पहचान की जानी चाहिए और फिर सजा दी जानी चाहिए

देखें बहस का वीडियो-

Courtesy: Jansatta

Categories: India, Politics