मुंबई: नाइक पर दो समुदायों के बीच तनाव फैलाने का आरोप, पुलिस ने सीएम को सौंपी रिपोर्ट

मुंबई: नाइक पर दो समुदायों के बीच तनाव फैलाने का आरोप, पुलिस ने सीएम को सौंपी रिपोर्ट

zakir-3-580x395

मुंबई: मुंबई पुलिस ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस को जाकिर नाइक और उनकी संस्था IRF के संदर्भ ने रिपोर्ट सौप दी है. जाकिर नाइक पर दो समुदायों के बीच तनाव फैलाने का आरोप लगा है.

पुलिस ने रिपोर्ट में जाकिर नाइक से जुड़ी कई नई जानकारियों का जिक्र किया है. अब सरकार इस रिपोर्ट पर लीगल ओपिनियन लेगी और आगे कदम उठाएगी.  वहीं इस रिपोर्ट में जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन में काम करने वाले अर्शीद कुरैशी का नाम भी शामिल है.

धर्म परिवर्तन के आरोप में IRF से जुड़े कर्मचारी सहित चार लोगों पर मामला दर्ज

बता दें कि मुंबई पुलिस ने धर्म परिवर्तन और इस्लामिक स्टेट में भर्ती के आरोप में चार लोगों पर एफआईआर दर्ज की है. जिन लोगों पर मामला दर्ज हुआ है उनमें जाकिर नाइक की संस्था इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन में काम करने वाला अर्शीद कुरैशी नाम का एक शख्स भी शामिल है.

केरल के लापता बीस लोगों में अशफाक के पिता ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि उनका बेटा केरल छोड़ कर कहीं और चला गया है. उन्होंने अर्शीद कुरैशी और कल्याण के रिजवान शेख पर उकसावे का आरोप लगाया है. इन मामले में अशफाक ने चार लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है.

बता दें कि केरल पुलिस ने महाराष्ट्र एटीएस के साथ मिलकर IRF के कर्मचारी अर्शीद कुरैशी और उसके साथी रिजवान शेख को गिरफ्तार किया था. इन दोनों पर केरल से भागे कुछ लोगों का मुंबई में धर्म परिवर्तन करवाने और आईएस में उनकी भर्ती करवाने का आरोप था.

मुंबई में दर्ज एफआईआर के बाद मुंबई पुलिस अब उनकी कस्टडी लेगी. उसके बाद IRF और जाकिर नाईक पर कार्रवाई की संभावना है. वहीं, बैन की सुगबुगाहट लगते ही जाकिर नाईक के संगठन ने कहा है कि जाकिर के आतंकी गतिविधियों में शामिल होने के कोई सबूत नहीं है, इसलिए बैन लगाना कानून का दुरुपयोग होगा.

Courtesy: ABPNews

Categories: Crime, India

Related Articles