प्रधानमंत्री जी! सिर्फ कश्मीर के सौंदर्य से ही प्यार, जो मरे उनसे क्यों नहीं?’

New Delhi: Opposition members protest in the Rajya Sabha in New Delhi on Tuesday. PTI Photo / TV GRAB  (PTI12_22_2015_000269A)

कश्मीर हिंसा को लेकर राज्यसभा में बहस के दौरान विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने इस संवेदनशील मुद्दे पर बहस के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सदन से गैर-मौजूदगी पर सवाल उठाए.

आजाद ने बहस शुरू करते हुए कहा, “भारत का ताज (कश्मीर) धधक रहा है. आपने भी दिल में न सही, दिमाग में जरूर इसकी तपिश महसूस की होगी.”

आजाद ने सवाल किया, “प्रधानमंत्री मध्य प्रदेश से कश्मीर को संबोधित क्यों कर रहे हैं? सदन से क्यों नहीं? क्या संसद का कोई महत्व नहीं है? केवल कश्मीर के सौंदर्य से ही प्यार न करें. उनसे भी प्यार करें, जो नेत्रहीन हो गए हैं, घायल हुए हैं और मारे गए हैं.”

दरअसल, सदन में कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मौजूद नहीं थे. एक दिन पहले मंगलवार को उन्होंने मध्य प्रदेश में एक रैली को संबोधित करते हुए घाटी में शांति की अपील की थी.

हिजबल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के 8 जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के लगभग एक माह बाद राज्यसभा में इस पर चर्चा हो रही है.

घाटी में पिछले एक माह से अधिक समय से जारी हिंसा और तनाव के दौरान अब तक 55 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है, जबकि हजारों घायल हुए हैं. घायलों में सैकड़ों लोगों की आंखों की रोशनी आंशिक रूप से या पूरी तरह चली गई है.

Courtesy- Pradesh 18

Categories: India, Politics

Related Articles