सपा-कांग्रेस के सस्‍पेंडेड विधायक BSP में शामिल, BJP के पूर्व मंत्री ने भी ज्‍वाइन की पार्टी

सपा-कांग्रेस के सस्‍पेंडेड विधायक BSP में शामिल, BJP के पूर्व मंत्री ने भी ज्‍वाइन की पार्टी

naseemuddin_1470825400

लखनऊ. लगातार बसपा छोड़कर जा रहे नेताओं के बीच बुधवार को नसीमुद्दीन सि‍द्दीकी ने कांग्रेस, भाजपा और सपा के 5 वि‍धायकों को बसपा ज्‍वाइन कराया। इनमें से कांग्रेस और सपा वि‍धायकों को उनकी पार्टियां पहले ही क्रॉस वोटिंग के चलते सस्पेंड कर चुकी हैं। हालांकि‍ इससे यह मैसेज देने की कोशि‍श की गई है कि‍ अभी भी लोग बसपा में आने को तैयार हैं। नेताओं ने क्या कहा

– बसपा में शामिल हुए कांग्रेस के तीन विधायकों ने पार्टी को तगड़ा झटका दिया है।
– अमेठी के तिलोई विधानसभा सीट से विधायक डॉ. मुस्लिम ने बसपा का दामन थामा है।
– इनके अलावा रामपुर से नवाब काजिम अली और बुलंदशहर की स्याना सीट से विधायक दिलनवाज खान ने बसपा ज्वाइन की।

– कांग्रेस के विधायकों का कहना है कि‍ पार्टी में सोनिया-राहुल से उनके इर्द-गिर्द रहने वाले नेता मिलने नहीं देते थे।

– इस वजह से हम जनता की परेशानियां उन तक पहुंचा नहीं पा रहे थे।
– कई बार अमेठी आए राहुल से शिकायत भी की गई, लेकिन रवैया नहीं बदला।
– यही वजह रही कि कांग्रेस छोड़नी पड़ी।

सपा से अच्छी माया की नीतियां

– वहीं सपा के मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना सीट से विधायक नवाजिश आलम खान भी सपा से सस्पेंडेड हैं।
– नवाजिश का कहना है कि मायावती की नीतियों की वजह से उन्‍होंने बसपा ज्वाइन की।
– जब उनसे पूछा गया कि साढ़े 4 साल बाद बसपा की नीतियां समझ में आईं तो उन्होंने चुप्पी साध ली।

भाजपा के पूर्व मंत्री भी हुए शामिल

– वहीं शाहजहांपुर इलाके के भाजपा के पूर्व मंत्री अवधेश वर्मा ने भी बसपा ज्वाइन की है।
– उनका कहना है कि भाजपा अब व्यक्ति केंद्रि‍त पार्टी हो गई है।
– यही वजह है कि बसपा ज्वाइन की है।
– वहीं अवधेश भी इस बात का जवाब नहीं दे पाए कि बसपा भी व्यक्ति केंद्रि‍त पार्टी है।

मायावती तय करेंगी टिकट मिलेगा या नहीं

– वहीं नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि अभी इन सभी को टिकट का आश्वासन नहीं दिया गया है।
– उन्होंने बताया कि यह बहनजी तय करेंगी कि‍ टिकट मिलेगा या नहीं।
– हालांकि शामिल हुए लोगों की मानें तो वह बसपा की टिकट पर चुनाव लड़ेंगे।

सदन में उठाएंगे दलित और कानूनव्यवस्था का मुद्दा 

– नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने बताया कि आगामी मानसून सत्र में बसपा दलितों और कानून-व्यवस्था का मुद्दा उठाएगी।
– उन्होंने बताया कि जहां भी दलितों पर मुस्लिमों पर अत्याचार हुआ वहां मायावती या बसपा के नेता पहुंचे हैं।
– उन्होंने बताया कि‍ मुजफ्फरनगर कांड में भी बसपा के नेताओं ने पीड़ितों का हालचाल लिया था।

सीडी में क्या है यह प्रशासन जाने 

– वहीं गालीकांड मामले पर नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कहा, ‘सीडी में क्या है यह प्रशासन जाने।’

– ‘उन्होंने कहा स्वाति सिंह क्या मांग कर रही हैं वह मैं नहीं जानता हूं।’
– हालांकि उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि क्या उन्होंने भी कोई टिप्पणी की थी।

 

Categories: Politics, Regional