प्रेमजी, नाडार फोब्र्स के 100 सबसे अमीर प्रौद्योगिकी सम्राटों में

prem ji

न्यूयार्क, 11 अगस्त :भाषा: विप्रो के चेयरमैन अजीम प्रेमजी और एचसीएल के सह-संस्थापक शिव नाडार भारत के मात्र दो अरबपति हैं जो फोब्र्स के प्रौद्योगिकी क्षेत्र के 100 सबसे अमीर लोगों की सूची में शामिल हैं और उन्होंने गूगल प्रमुख एरिख श्मिट और उबर के मुख्य कार्यकारी ट्रैविस कैलानिक से पहले शीर्ष 20 उद्योगपतियों में जगह बनाई है।

प्रौद्योगिक क्षेत्र के इन 100 सबसे अमीर उद्योगपयितों की सूची में शीर्ष स्थान पर माइक्रोसाफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स हैं जिनके पास अनुमानित संपत्ति 78 अरब डालर है।

इस सूची में प्रेमजी का स्थान 13वां है जिनका निवल मूल्य 16 अरब डालर है और नाडार 11.6 अरब डालर के निवल मूल्य के साथ 17वें स्थान पर रहे। दो भारतीय अमेरिकी प्रौद्योगिकी सम्राट – सिंफनी टेक्नोलाजी समूह के मुख्य कार्यकारी रोमेश वाधवानी और सूचना प्रौद्योगिकी परामर्शक तथा आउटसोर्सिंग कंपनी सिंटेल के संस्थापक भरत देसाई एवं उनकी पत्नी नीरजा सेठी भी इस सूची में हैं।

फोब्र्स ने कहा कि भारत की तीसरी सबसे बड़ी आउटसोर्सिंग कंपनी, विप्रो के प्रमुख प्रेमजी पिछले साल अधिग्रहण की प्रक्रिया में रहे ताकि वृद्धि को प्रोत्साहित किया जा सके। प्रेमजी के पुत्र रिशद जो निदेशक मंडल में हैं और रणनीति प्रमुख हैं, वह विप्रो के 10 करोड़ डालर के उद्यम पूंजी कोष की भी निगरानी करते हैं।

फोब्र्स ने कहा कि नाडार एचसीएल के सह-संस्थापक हैं। कंपनी अमेरिका में सूचीबद्ध होने पर विचार कर रही है। नाडार की एक इकाई एचसीएल टेलेंट केयर है जो कौशल विकास कंपनी और नए स्नातकों को प्रशिक्षण प्रदान करती है। उनका ताजा उद्यम है 50 करोड़ का कोष जो स्टार्टअप एवं अमेरिकी स्वास्थ्य प्रौद्योगिकी कंपनियों में निवेश करता है।

वाधवानी तीन अरब डालर के निवल मूल्य के साथ 67वें स्थान पर हैं।

courtesy: NBT

Categories: Finance, India, International

Related Articles