जेल में बंद कैदी पहली बार फोन से कॉल कर कहेंगे- हैप्पी रक्षाबंधन बहना…

जेल में बंद कैदी पहली बार फोन से कॉल कर कहेंगे- हैप्पी रक्षाबंधन बहना…

meerut_1470830126

गाजियाबाद.प्रदेश सरकार ने बंदियों के लिए प्रदेश की सभी जेलों में पीसीओ स्थापित करने की योजना बनाई है। इसका काम डासना जेल में पूरा हो चुका है। जल्द ही नवनियुक्त डीएम निधि केसरवानी इस पीसीओ का उद्घाटन करेंगी। इस सुविधा से जेल में बंद भाई पहली बार कॉल कर बहनों से बात कर राखी पर्व पर शुभकामनाएं दे सकेंगे। इस योजना को लेकर बंदी बेहद खुश हैं।

त्योहार पर बंदियों और उनके परिजनों को मिलेगा लाभ

– वरिष्ठ जेल अधीक्षक एसपी यादव ने बताया कि जेलों में ऐसे बहुत से बंदी हैं राखी पर्व पर जिनकी मुलाकात नहीं आती है।
– दूसरे राज्यों के बंदियों के परिजन जेल पर आकर मुलाकात करने में असमर्थ रहते हैं।
– ऐसे बंदी जेल में रहकर त्यौहारों के अवसर पर बेहद एकाकीपन महसूस करते हैं।
– ऐसे ही बंदियों को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार ने सभी जेलों मेंं पीसीओ लगाने की योजना तैयार की गई।
– इस योजना के तहत की डासना जेल में भी मॉडर्न पीसीओ स्थापित किया गया।
– उनका कहना है कि आईजी जेल आर.आर भटनागर के साथ उन्होंने तिहाड़ व गुडगांव की जेलों की विजिट की थी।
– उसके बाद से ही डासना जेल में पीसीओ लगाने के प्रयास शुरू कर दिए गए थे।

केस की पैरवी हो पाएगी मजबूत

– एसपी यादव का कहना है कि पीसीओ से जहां बंदी अपनों से बात कर सकेंगे।
– वहीं वे अपने केस के बारे में जानकारी अपने वकीलों से ले पाएंगे।
– इससे उन्हें अपने केस की पैरवी करने में आसानी होगी।
– कॉल का मामूली खर्च बंदियों से लिया जाएगा। यही नहीं फोन पर बात करने की सीमा भी तय होगी।
– एक महीने में कितनी बार बंदी फोन पर बात कर सकेगा, यह सब पहले से ही तय होगा।
– उसी तय रोस्टर के अनुसार बंदी अपने परिजनों या वकील से बात कर सकेगा।

ट्रायल के दौरान मां ने पूछा, बेटा जेल से भाग आया क्या

– पीसीओ के ट्रायल के दौरान कई रौचक किस्से सामने आए हैं।

– जेल अधिकारियों के अनुसार बंदी जब पीसीओ से अपने परिजनों से बात कर रहे हैं तो उनके परिजनों को यकीन ही नहीं हो रहा कि उनकी बात जेल में बंद उनके अपने से हो रही है।
– जेल अधिकारियों ने बताया कि एक बंदी की जब उसके पिता से फोन पर बात करायी गई तो पिता ने कहा कि जेल से कब आए और फोन काट दिया।
– एक बंदी ने जेल में शुरू हो रही पीसीओ सुविधा से जब अपनी मां से फोन पर बात की तो उसकी मां ने पूछा, बेटा क्या तुम जेल से छूट गए हो।
– मां ने अगला सवाल पूछा कि जेल से छूटने की जानकारी तुमने मुझे क्यों नहीं दी। मैं खुद तुम्हें जेल से लेने पहुंच जाती।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Politics, Regional