साउथ चाइना सी विवाद: वियतनाम ने भेजे रॉकेट लॉन्चर्स, चीन की वॉर्निंग- बहुत बड़ी गलती की

 

south-china-sea-600x51-up

बीजिंग.साउथ चाइना सी को लेकर बढ़ते तनाव के बीच सरकारी चीनी मीडिया ने वियतनाम को वॉर्निंग दी है। इसमें कहा गया- “इस इलाके में वियतनाम की मिलिट्री मूवमेंट एक बहुत बड़ी गलती है। उसे इतिहास से सबक लेना चाहिए।” बता दें कि कुछ दिन पहले इस विवादित इलाके में वियतनाम ने कुछ रॉकेट लॉन्चर्स भेजे थे। जिसके बाद से चीन और वियतनाम के बीच तनाव बढ़ गया है। इंटेलिजेंस की आशंका: 2-3 दिन में चीनी ठिकानों पर हो सकता है हमला…

– चीनी सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा- “यदि वियतनाम साउथ चाइना सी पर हमला करता है, तो यह उसकी अब तक की सबसे बड़ी भूल होगी।”

– “उसे इतिहास को याद रखते हुए सबक लेना चाहिए।” बता दें कि चीन ने 1988 में वियतनाम नेवी को हराकर साउथ चाइना इलाके के स्प्रैटलिस आइलैंड्स पर कब्जा किया था।

– उधर, रायटर्स ने वेस्टर्न ऑफिशियल के हवाले से एक रिपोर्ट में कहा- “वियतनाम ने साउथ सी चाइना में जो रॉकेट लॉन्चर्स भेजे हैं, वे चाइना के रनवेज और मिलिट्री ठिकानों पर हमला करने में कैपेबल हैं।”

– वेस्टर्न ऑफिशियल के मुताबिक, “वियतनाम ने हाल के महीनों में स्प्रैटलिस आइलैंड्स के 5 बेस पर रॉकेट लॉन्चर्स तैनात किए हैं।”
– इंटेलिजेंस अफसरों का कहना है, “आसमान से निगरानी के दौरान लॉन्चर्स दिखाई नहीं दिए। उन्हें अभी तक हथियारों से लैस नहीं किया गया है, लेकिन अगले 2-3 दिन में चीन के ठिकानों पर हमला कर सकते हैं।”

क्या कहा वियतनाम ने?

– साउथ चाइना सी के कई आइलैंड्स पर दावा करने वाले वियतनाम की फॉरेन मिनिस्ट्री ने इन रॉकेट लॉन्चर्स की तैनाती पर ज्यादा कुछ कहने से इनकार कर दिया था। इतना जरूर कहा कि ये सूचनाएं सही नहीं हैं।

– जून में डिप्टी डिफेंस मिनिस्टर सीनियर लेफ्टिनेंट नगुएन ची विन्ह कहा था, “वियतनाम का स्प्रैटलिस आइलैंड्स पर किसी तरह के लॉन्चर्स और वेपन्स तैनात करने का इरादा नहीं है। लेकिन ऐसे किसी मुद्दे पर फैसला लेने का हमारा अधिकार सुरक्षित है।”

– अमेरिकी थिंक टैंक की रिपोर्ट के मुताबिक, चीन ने साउथ चाइना सी के फियरी क्रॉस, सुबी और मिसचीफ रीफ आइलैंड्स पर 3 हजार मीटर का रनवे बनाया है, ताकि वह वहां फाइटर जेट उतार सके।

– वियतनाम का दावा है कि ये तीनों आइलैंड उसके अधिकार वाले 21 आइलैंड्स में ही आते हैं।

चीन ने स्प्रैटलिस पर 1988 में किया था कब्जा

– चीन ने 1988 में वियतनाम नेवी को हराकर स्प्रैटलिस आइलैंड्स पर कब्जा किया था।
– तब वियतनाम ने कहा था कि आइलैंड्स की सिक्युरिटी के दौरान उसके 64 सोल्जर मारे गए।
– बीते कुछ सालों में वियतनाम ने अपनी नेवल कैपिबिलिटीज को मजबूत किया है। उसने रूस से 6 एडवांस्ड सबमरीन भी खरीदी थीं।
– ऑस्ट्रेलियन डिफेंस फोर्स एकेडमी में वियतनाम डिफेंस एक्सपर्ट कार्ल थायर के मुताबिक, “लॉन्चर्स की तैनाती वियतनाम की गंभीरता को दिखाता है। वह चीन को दिखाना चाहता है कि वह उससे कहीं कम नहीं है।”

untitled-1_1470904375

 

क्या है विवाद की असल वजह?

– साउथ चाइना सी का लगभग 35 लाख स्क्वेयर किलोमीटर का एरिया विवादित है।

– इस पर चीन, फिलीपींस, वियतनाम, मलेशिया, ताइवान और ब्रुनेई दावा करते रहे हैं।

– साउथ चाइना सी में तेल और गैस के बड़े भंडार दबे हुए हैं।
– अमेरिका के मुताबिक, इस इलाके में 213 अरब बैरल तेल और 900 ट्रिलियन क्यूबिक फीट नेचुरल गैस का भंडार है।

– वियतनाम इस इलाके में भारत को तेल खोजने की कोशिशों में शामिल होने का न्योता दे चुका है।
– इस समुद्री रास्ते से हर साल 7 ट्रिलियन डॉलर का बिजनेस होता है।
– चीन ने 2013 के आखिर में एक बड़ा प्रोजेक्ट चलाकर पानी में डूबे रीफ एरिया को आर्टिफिशियल आइलैंड में बदल दिया।

– अमेरिका और चीन एक-दूसरे पर इस क्षेत्र को ‘मिलिटराइजेशन’ (सैन्यीकरण) करने का आरोप लगाते रहे हैं।

 

courtesy: Bhaskar.com

 

Categories: International, Politics

Related Articles