तेवतिया पर हमला- पति के ‘मर्डर’ के बदले का शक, महिला कॉन्स्टेबल हिरासत में

तेवतिया पर हमला- पति के ‘मर्डर’ के बदले का शक, महिला कॉन्स्टेबल हिरासत में

bjp-leader-car-bullets_650x400_71470985204

मुरादनर। यूपी के मुरादनगर में बीजेपी नेता बृजपाल तेवतिया पर राइफल एके 47 से हमले की घटना से प्रदेश सरकार से लेकर केंद्र सरकार तक में हलचल तेज हो गई है। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने खुद अधिकारियों से बातकर पूरे मामले की जानकारी ली है। यूपी के डीजीपी जावीद अहमद ने बताया कि हमले में इस्तेमाल की गई गाड़ी बरामद कर ली गई है। पुलिस और फॉरेंसिक टीमें कई पहलुओं पर जांच कर रहे हैं। तेवतिया को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई, इसकी भी जांच की जाएगी।

बागपत में तैनात महिला कॉन्स्टेबल सुनीता हसनपुरिया को हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने बताया कि ऐसा पूछताछ करने के लिए किया गया गया है। सुनीता राकेश हसनपुरिया की पत्नी है जो पहले दिल्ली पुलिस में था लेकिन फिर बर्खास्त हो गया था और बाद में कुख्यात बदमाश बन गया था। यूपी में एनकाउंटर में राकेश मारा गया था। तेवतिया पर शक था कि उन्होंने इस मामले में मुखबरी की।

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में अराजक तंत्र और गुंडे खुलेआम काम कर रहे हैं, ये बहुत अफसोस की बात है। ऐसा लगता है जैसे वहां सरकार नाम की चीज रह नहीं गई है। यह गंभीर है, दुखद है। बता दें कि हमले में तेवतिया बुरी तरह घायल हो गए। तेवतिया को पहले गंभीर हालत में गाजियाबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया था लेकिन बेहतर इलाज के लिए उन्हें नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया। डॉक्टरों ने बताया कि ब्रजपाल तेवतिया का ऑपरेशन कामयाब रहा है। अभी उन्हें ऑब्जर्वेशन में रखा गया है।

गाजियाबाद से बीजेपी सांसद वीके सिंह देर रात अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह पूरी ही घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। सिंह ने कहा, ‘हम नहीं जानते कि इसके पीछे कौन है। पहली बात ये है कि वह सुरक्षित हैं।’ बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति बद से बदतर हो चुकी है। अगर अखिलेश सरकार नहीं संभाल पा रहे हैं तो इस्तीफा दे दें।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यूपी में यह जंगलराज का एक प्रदर्शन है। सत्ता के संरक्षण में ऐसी घटनाएं चल रही हैं। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने एसपी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि कानून व्यवस्था ध्वस्त हो गई है। सरकार अपराधियों के साथ है और उनसे डरकर काम कर रही है।

वहीं, एडीजी लॉ एंड ऑर्डर दलजीत चौधरी ने बताया कि यह पुरानी रंजिश का मामला दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की पहचान की गई है। बहुत जल्द केस को क्रैक किया जाएगा। जिन लोगों को पहचाना गया है, उनके साथ तेवतिया की पुरानी रंजिश है। पुलिस ने सिक्यॉरिटी क्यों हटाई, इसकी जांच होगी। चौधरी शुक्रवार सुबह फोर्टिस पहुंचे।

मेरठ जोन के आईजी सुरजीत पांडे ने बताया कि एक कार में सवार अज्ञात बदमाशों ने शाम करीब सात बजकर 20 मिनट पर बृजपाल तेवतिया और अन्य लोगों पर गोलियां चलाईं, जिसमें तेवतिया सहित छह लोग घायल हो गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने बदमाशों का पीछा किया, लेकिन वे फरार होने में कामयाब रहें। उन्होंने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मुरादनगर विधानसभा क्षेत्र से साल 2012 का विधानसभा चुनाव लड़ चुके तेवतिया आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में व्यस्त थे।

 

Courtesy-IBN

Categories: Crime, Regional

Related Articles