केरल के IPS अफसर बोले-महिला को 14 सेकंड से ज्यादा घूरना क्राइम, हो सकती है FIR

केरल के IPS अफसर बोले-महिला को 14 सेकंड से ज्यादा घूरना क्राइम, हो सकती है FIR

rishi03_1471326429

तिरुवनंतपुरम.किसी महिला को 14 सेकंड से ज्यादा घूरना क्राइम है। अगर कोई शख्स ऐसा करता है तो उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो सकती है। ये बात केरल कैडर के आईपीएस ऋषिराज सिंह ने कही। इसे लेकर राज्य में बहस शुरू हो गई है। स्पोर्ट्स मिनिस्टर ईपी जयराजन ने अफसर को फटकार लगाते हुए कानूनी जानकारी बढ़ाने को कहा है। वहीं, सोशल मीडिया में सिंह के बयान की खिल्लियां उड़ाई जा रही हैं।और क्या कहा आईपीएस ने…

– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिंह अपने सख्त रवैये के लिए जाने जाते हैं। फिलहाल वे केरल में एक्साइज कमिश्नर के पद पर तैनात हैं।

– रविवार को कोच्चि में एक पब्लिक मीटिंग में उन्होंने कहा, ”हम में से ज्‍यादातर लोगों को नहीं पता कि अगर कोई आदमी महिला को 14 सेकंड से ज्‍यादा घूरता है तो उसके खिलाफ केस दर्ज किया जा सकता है। लेकिन अब तक राज्‍य में इस तरह की एक भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है।”

– महिलाओं के खिलाफ बढ़ते क्राइम पर बरसते हुए उन्होंने कहा, ”लड़कियों को ऐसे मामलों में आगे आना चाहिए। अगर कोई अश्‍लील कमेंट करे तो फौरन उसका जवाब देना चाहिए।”

– राजस्थान के बीकानेर के रहने वाले ऋषिराज 1985 बैच के आईपीएस अफसर हैं। करप्शन रोकने के लिए ऑपरेशन चलाकर कई बार सुर्खियां बंटोर चुके हैं।

विवादों से है पुराना नाता

– ऋषिराज का विवादों से पुराना नाता रहा है। पिछले साल पुलिस डिपार्टमेंट के प्रोग्राम में पहुंचे पूर्व होम मिनिस्टर रमेश चेननिथला को उन्होंने सैल्यूट नहीं किया था।

– वे होम मिनिस्टर के मंच पर आने पर भी अपनी सीट पर बैठे रहे थे। उनका ये फोटो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। मुख्यमंत्री से शिकायत की गई। इसके बाद ऋषिराज का ट्रांसफर कर दिया था।

मंत्री बोले- कानूनी ज्ञान बढ़ाएं अफसर

– एक्साइज कमिश्नर सिंह का बयान कई लोगों के गले नहीं उतरा है। केरल के स्पोर्ट्स मिनिस्टर जयराजन ने कहा, ”कमिश्नर को कानूनी जानकारी में सुधार करना चाहिए।”

– जयराजन ने कहा, “मुझे नहीं पता उन्‍हें यह जानकारी कहां से मिली। वे ऐसे कानून का जिक्र कर रहे हैं जिसका वजूद ही नहीं है।”

– कानून के कुछ जानकारों ने भी जयराजन को सपोर्ट किया। सीनियर एडवोकेट सीपी उदयभानु ने कहा- “घूरने पर किसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का नियम नहीं है।”
– “अगर कोई शख्स शब्‍द और इशारे से महिला की बेइज्‍जती करता है तो आरोपी के खिलाफ आईपीसी 509 के तहत कार्रवाई होती है।”

सोशल मीडिया में हो रहा विरोध

– ऋषिराज सिंह के बयान का कई यूजर्स ने विरोध किया है।

– एक यूजर ने पूछा, ”अगर कोई शख्स 13 सेकंड के लिए घूरे तो उसके साथ क्‍या होगा।”
– दूसरे ने पूछा, ”अगर किसी ने आंखों पर सनग्‍लासेज लगा रखे हों तो उसे कैसे पकड़ा जाए।”
– तीसरे ने लिखा- ”अब किसी लड़की को देखने से पहले टाइमर साथ रखना होगा, नहीं तो मैं मुश्किल में पड़ जाऊंगा।”
– कॉलेज स्टूडेंट रुचिका ने कहा, ”अगर ये सही है तो मैं हर दिन दर्जनों एफआईआर दर्ज करा सकती हूं।”

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India, Regional

Related Articles