चिदंबरम ने कश्मीर में अशांति के लिए पीडीपी-बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया

चिदंबरम ने कश्मीर में अशांति के लिए पीडीपी-बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया

chidambaram-580x395

नई दिल्ली : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम ने कश्मीर घाटी में अशांति के लिए आज पीडीपी-बीजेपी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान ने इस संकट को और ‘‘बढ़ाया’’ है. चिदंबरम ने कहा कि जम्मू कश्मीर में पूरी तरह ‘अराजक’ हो रहे हालात को लेकर वह बेहद चिंतित हैं.

‘पिछले छह हफ्तों में स्थिति तेजी से बिगड़ी है’

एक बयान में चिदंबरम ने कहा, ‘पिछले छह हफ्तों में स्थिति तेजी से बिगड़ी है और इसके लिए पीडीपी-बीजेपी सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है.’ संप्रग सरकार में गृह मंत्री और वित्त मंत्री रह चुके चिदंबरम ने कहा कि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के बयानों ने इस संकट को और ‘बढ़ाया’ है.

कार्रवाईयों में संयम बरतने से स्थिति को सुधारा जा सकता है

उन्होंने कहा, ‘शब्दों और कार्रवाईयों में संयम बरतने से स्थिति को सुधारा जा सकता है. प्रदर्शनकारी युवकों, अन्य नागरिकों और सुरक्षा बलों की मौत से हम सभी स्तब्ध हैं. इसे रोका जाना चाहिए.’ चिदंबरम ने कहा कि उन्हें आशंका है कि मौजूदा सरकार इस संकट से उबरने के लिए रास्ता तलाश नहीं कर पाएगी.

हिंसा को रोकने के लिए तत्काल एक समाधान तलाशा जाए

उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और अगर इच्छा हो तो पीडीपी को समाधान तलाशने के लिए निश्चित तौर पर साथ आना चाहिए. सबसे पहले हिंसा को रोकने के लिए तत्काल एक समाधान तलाशा जाए और फिर आगे ऐसा मार्ग प्रशस्त किया जाए जो जम्मू कश्मीर के लोगों में उम्मीद, शांति और खुशहाली लाए.’

अशांति की वजह से 63 लोगों की जान जा चुकी है

गौरतलब है कि  कश्मीर घाटी के श्रीनगर जिले, अनंतनाग शहर और बडगाम के मागम इलाके में एहतियाती तौर पर कर्फ्यू जारी है. कश्मीर में मौजूदा अशांति की वजह से 63 लोगों की जान जा चुकी है और आज लगातार 40वें दिन जनजीवन प्रभावित हुआ है. श्रीनगर में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है

श्रीनगर जिले और अनंतनाग शहर में भी कफ्र्यू जारी है

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘बडगाम जिले के मागम क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है जहां कल सुरक्षा बलों की गोलीबारी में चार व्यक्ति मारे गए थे. श्रीनगर जिले और अनंतनाग शहर में भी कफ्र्यू जारी है.’ उन्होंने कहा कि घाटी के अन्य हिस्सों में लोगों की आवाजाही पर पाबंदी हैं. सोनावर में संयुक्त राष्ट्र सैन्य पर्यवेक्षक समूह (यूएनएमओजी) के स्थानीय दफ्तर की ओर जाने वाली सभी सड़कों को सील कर दिया गया है.

Courtesy: ABPNews

 

 

Categories: India

Related Articles