मोदी का भाषण सरकारी प्रेस नोटों का पुलिंदा : मायावती

मोदी का भाषण सरकारी प्रेस नोटों का पुलिंदा : मायावती

 

16_08_2016-mayawati-new

लखनऊ  बहुजन समाज पार्टी मुखिया मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लालकिले से दिए भाषण को अब तक का सबसे नीरस बताया। कहा कि यह भाषण नहीं था, सरकारी प्रेस नोटों का पुलिंदा भर था।

मंगलवार को जारी बयान में उन्होंने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री भाषण को शाइनिंग इंडिया की तरह प्रचारित करना चाहते है परन्तु ऐसा न हो सका। उनकी तकरीर सरकारी प्रेस नोटों पर आधारित पुलिंदा बन कर ही रह गई। लालकिले की प्राचीर से दिए गए अब तक तमाम भाषणों में से सबसे नीरस व बेजान भाषण माना जाएगा। मोदी ने जिन उपलब्धियों का बखान भाषण में किया वह सारी बातें लोग पिछले एक साल से जानते आए हैं।

मायावती ने कहा कि मोदी आंकड़ों के मकडज़ाल व विदेशी संस्थानों की रेटिंग के हवाले से अपनी सरकार की वाहवाही सुनना चाहते हैं। आमजनता की जो धारणा बनी है उससे प्रधानमंत्री अंजान बने है। उन्होंने सलाह देते हुए कहा कि केंद्र सरकार को कश्मीर की चिंता करनी चाहिए और वहां हालात सामान्य बनाने के सार्थक प्रयास करें।

Courtesy : Jagran.com

Categories: Politics, Regional

Related Articles