पहले गोद में बैठे ‘शिवराज’, अब दी सफाई, बोले- ‘मेरा मन पवित्र’

पहले गोद में बैठे ‘शिवराज’, अब दी सफाई, बोले- ‘मेरा मन पवित्र’
phpThumb_generated_thumbnail
भोपाल/पन्ना। प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान की दो तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही हैं। एक तस्वीर में शिवराज सिंह बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में पुलिस कर्मियों की गोद में चढ़े हुए नजर आ रहे हैं और दूसरी तस्वीर में उनका सुरक्षाकर्मी मुख्यमंत्री का जूता लेकर चल रहा है। ये विंध्य के वही इलाकें हैं जहां पिछले एक हफ्ते से बारिश और बाढ़ ने कहर बरपाया हुआ है।
प्रदेश में एक ओर जहां भीषण बाढ़ से लोगों का कहीं आना-जाना दूभर हो गया हैं, वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जवानों की गोद में बैठकर रविवार को बाढ़ के हालात का जायजा लिया। मुख्यमंत्री की इसको लेकर आलोचना हो रही है। हालांकि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने वायरल हो रही तस्वीरों पर अब बयान जारी कर सफाई दी है। शिवराज ने कहा- ‘मैं पवित्र मन से बाढ़ प्रभावित इलाकों में गया था, मेरा उद्देश्य लोगों की समस्याओं के निस्तारण का था’
सुरक्षा के नाते ऐसा करना जरूरी था
मुख्यमंत्री को गोद में उठाकर लेकर चलने के मामले में मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एस.के. मिश्रा का कहना है कि मुख्यमंत्री जिन इलाकों में गए थे, वे बड़े जटिल थे। सीएम लगातार बाढ़ वाले इलाके में जा रहे हैं। हालांकि, तस्वीरों में साफ़ नजर आ रहा है कि जहां जवानों ने मुख्यमंत्री को गोद में उठाया है, वहां घुटने से भी नीचे पानी था।
जोखिम का नहीं था अंदाजा
एस.के. मिश्रा ने ये भी बताया कि मुख्यमंत्री ट्रेन से रीवा और सतना के इलाके में पहुंचे। जहां पर यह घटना हुई है, उस जगह हालात दूसरे थे। हेलीपेड ऊंची जगह पर था, जनता दूसरी ओर थी। बीच में नदी बह रही थी। जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त मुख्यमंत्री जनता से मिलकर उनका दु:ख दर्द जानना और उन्हें सांत्वना देना चाहते थे। लेकिन नदी पार करने में जटिलता व जोखिम का कोई अंदाजा मुख्यमंत्री को नहीं था। किसी तरह की कोई आशंका नहीं रहे, इसलिए सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें गोद में उठाकर जनता तक पहुंचाया।
Courtesy: Patrika 
Categories: Politics

Related Articles