मोदी सरकार से नाराज ‘भगवा सेना’ के महारथियों को मनाएगा संघ

मोदी सरकार से नाराज ‘भगवा सेना’ के महारथियों को मनाएगा संघ

narendra-modi_1471764856

मोदी सरकार के कामकाज को लेकर भगवा टोली के कुछ संगठनों में फैल रही नाराजगी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की चिंता बढ़ा दी है। आरएसएस ने इस नाराजगी को बढ़ने से पहले ही रोकने का फैसला किया है।

इसकी कमान संघ प्रमुख मोहन भागवत ने खुद संभाल ली है। वे अगले सप्ताह लखनऊ आ रहे हैं। वे 29 अगस्त को भगवा परिवार के सभी संगठनों के प्रमुख लोगों से बात करेंगे। उनकी शिकायतें समझेंगे और उन्हें समझाएंगे। बैठक में भाजपा के लोग भी शामिल होंगे।

बीते दिनों गोरक्षकों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान के बाद विहिप व अन्य संगठनों की नाराजगी मुखर हुई थी। विहिप के अध्यक्ष प्रवीण भाई तोगड़िया ने तो इस पर सार्वजनिक रूप से बयान भी दे डाला।

वहीं, केंद्र सरकार की श्रमिक नीतियों के विरोध में आरएसएस से जुड़े संगठन भारतीय मजदूर संघ भी जिस तरह ट्रेड यूनियनों के साथ खड़ा हुआ। उसने संघ के प्रमुख लोगों के कान खड़े कर दिए हैं।

अयोध्या मुद्दे पर चुप्पी से भी संत नाराज

mohan-bhagwat-in-lucknow_1459238450

संघ से जुड़े लोग बताते हैं कि हिंदू जागरण मंच के लोगों में धर्मांतरण पर प्रतिबंध लगाने की मांग पर केंद्र सरकार की चुप्पी को लेकर नाराजगी फैल रही है। अयोध्या मुद्दे पर केंद्र सरकार की चुप्पी पर अब संतों की प्रतिक्रियाएं भी सार्वजनिक होने लगी हैं।

संघ और उससे जुड़े संगठनों से लोग तरह के सवाल करने लगे हैं। संघ के शीर्ष नेतृत्व इससे चिंतित है। वह इस नाराजगी को और ज्यादा फैलने से पहले ही शांत करना चाहता है जिससे इस नाराजगी के चलते विधानसभा चुनाव की रणनीति पर कोई असर न पड़े।

ये है वजह
भले ही संघ सार्वजनिक तौर पर राजनीति से तटस्थ भूमिका में दिखाई देना चाहता हो, लेकिन यह बात सभी जानते हैं कि संघ नेतृत्व के दिल व दिमाग में भाजपा के लिए ही हमदर्दी रहती है। वह चुनाव में यूपी में भाजपा को सत्ता में देखना चाहता है जिससे उसका कई एजेंडों पर काम आसान हो जाए।

संघ का शीर्ष नेतृत्व जानता है कि चाहे मंदिर की बात हो या गोरक्षा की या फिर धर्मांतरण का मसला हो। यूपी में कई काम यहां की सरकार के बिना नहीं हो सकते। इसीलिए उसकी कोशिश है कि कुछ भी ऐसा न होने पाए जिससे यूपी में भाजपा को सत्ता में लाने के रास्ते में कोई बाधा खड़ी हो।

Courtesy: Amarujala

Categories: Politics, Regional

Related Articles