VHP लीडर ने कहा- नारा लगाने से हिंदू-मुस्‍िलम भाई नहीं बन सकते, इसके लिए ‘मां’ चाहिए

VHP लीडर ने कहा- नारा लगाने से हिंदू-मुस्‍िलम भाई नहीं बन सकते, इसके लिए ‘मां’ चाहिए
amarish-vhp-leader_147176

मऊ (यूपी).बीएचपी के पूर्वी क्षेत्र संगठन मंत्री अमरीश ने रविवार को यहां विवादित बयान दिया। उन्‍होंने कहा, ‘दो ही लाइन होती है, एक देशभक्ति और दूसरी देशद्रोही, लेकिन यहां तो एक तीसरी अलगाववाद है। ये अलगाववादी क्या होता है? भारत से नागरिकता का प्रमाण पत्र लेकर हमारे ही टुकड़ों की रोटी खाकर, हमारे ही पैसे से फाइव स्टार होटल में रहकर, हमारे ही पैसे से हवाई जहाजों से चल कर और दिल्ली में आकर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके यहां की सम्प्रभुता को ललकारने वाले कुत्तों को टुकड़े देने की परंपरा बंद होनी चाहिए। इन पागल कुत्तों को गोली मार देनी चाहिए।’ आगे पढ़िए भारतपाक के बंटवारे के बारे में क्या कहा

-ये बातें अमरीश ने मऊ विश्व हिंदू परिषद के स्थापना दिवस के कार्यक्रम में कही।

-उन्‍होंने कहा, ‘हमारे ही देश में हमें असहिष्णु बताया जा रहा है।’

-इस देश में सालों से गीत है “मिले सुर मेरा तुम्हारा तो सुर बने हमारा”, लेकिन सुर नहीं मिल रहा और मिलेगा भी नहीं।

-स्वतंत्रता के बाद से ही नारा लगा रहे हैं हिन्दू मुस्लिम भाई-भाई। नारा लगाने से कोई भाई नहीं बनता है।

-कानून बनाने और प्रस्ताव पारित करने से कोई भाई नहीं बनता है।

-उन्‍होंने कहा, ‘दोस्‍तों भाई बनने के लिए माई (मां) चाहिए।’

ये जितने नारे लगा लें, भाई नहीं बन सकते

उन्‍होंने कहा कि बिना किसी का नाम लिए कहा कि गो माता की हत्या करने वाले, रामलला के जन्मभूमि पर बाबरी नाम की स्मारक बनाने वाले, 1990 से कश्मीर घाटी से हिन्दुओं को बाहर करने वाले, जिहाद के नाम पर बम फोड़ने वाले, हिन्दू कन्या का अपहरण करने वाले, वंदे मातरम् से परहेज करने वाले और भारत माता की जय न करने वाले , चाहे जितने नारे लगा लें, भाई नहीं बन सकते।

इसलिए हुआ था देश का बंटवारा

-अमरीश ने आगे कहा कि बंटवारे की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के साथ हमारा देश स्वतंत्र हुआ।

-कुछ लोग कहते हैं कि इस देश में हिन्दू-मुसलमान की बात मत करो। आपस में मत लड़ो। गरीबी से लड़ो।

-उन्‍होंने कहा कि गरीबी के कारण देश का बंटवारा नहीं हुआ था। अशिक्षा और बेरोजगारी के कारण देश का बंटवारा नहीं हुआ था।

-देश में विकास नहीं था, इसलिए नहीं बंटवारा हुआ था।

-देश का बंटवारा इसलिए हुआ था कि इस देश के मुस्लिम नेतृत्व ने कहा था कि हिन्दू के राज्य में मुसलमान सुरक्षित नहीं।

-इसलिए हमको हमारे जनसंख्या के अनुपात में भूमि चाहिए।

-हमारे नेतृत्व ने भरोसा दिलवाया कि बंटवारा नहीं होने देंगे, लेकिन बंटवारा हो गया।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Politics, Regional

Related Articles