वैष्णो देवी भवन के गेट नंबर 3 के पास चट्टान गिरी, कई लोग दबे, एक जवान की मौत

वैष्णो देवी भवन के गेट नंबर 3 के पास चट्टान गिरी, कई लोग दबे, एक जवान की मौत

vaisno-devi

जम्मूजम्मू में वैष्णो देवी भवन के गेट नंबर तीन पर बड़ा हादसा हो गया है. यहां गेट के पास एक बड़ी चट्टान ट्रैक पर गिर गई है. इस चट्टान के नीचे कई लोगों के दबे होने की खबर है. वहीं खबर यह भी है कि इस हादसे में सीआरपीएफ के एक जवान की मौत हो गई है.

बता दें कि यह हादसा चट्टान के खिसकने से हुआ है. राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया गया है. वहीं, सुरक्षा कारणों के मद्देनजर यात्रा रोक दी गई है. वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने चट्टान के नीचे से निकाले जाने वाले लोगों को तत्‍काल प्राथमिक उपचार मुहैया कराने के लिए कोशिशें शुरू कर दी हैं. फिलहाल चट्टान को काटा जा रहा है. हालांकि कितनी लोग चट्टान के नीचे दबे है उसकी अभी कोई पुख्ता जानकारी या संख्या सामने नहीं आई है.

vaishno-devi-mandir-300x183

6 अगस्त को भी हुआ था हादसा

इससे पहले 6 अगस्त को भी वैष्णोदेवी गुफा मंदिर के मार्ग में भारी बारिश के कारण चट्टान खिसकने से तीन श्रद्धालुओं समेत चार लोगों की मौत हो गई थी. भूस्खलन बाणगंगा-अर्धकुमारी मार्ग पर करीब आधी रात को हुआ था और मलबा उस शरणस्थल पर गिरा जहां तीर्थयात्री बैठे थे.

तीर्थयात्रियों के लिए बन रहा है नया रास्ता

बता दें कि कटरा से अर्धकुंवारी तक नया ट्रैक बना रहा है जिसे अगले कुछ महीनों में यात्रियों के लिए खोला जायेगा. आधुनिक सुविधाओं से बन रहे इस नए ट्रैक पर हालांकि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेशों के चलते सिर्फ पैदल यात्री ही यात्रा कर पाएंगे.

नया ट्रैक कटरा से करीब एक किलोमीटर दूर कटरा-रियासी सड़क पर बालिनी पुल के पास बन रहा है. इस ट्रैक की लंबाई 7 किलोमीटर से थोड़ी ज्यादा है. नए ट्रैक पर आपातकालीन स्थिति में एम्बुलेंस ले जाने की भी सुविधा है.

इस नए ट्रैक को हाई-टेक बनाया जा रहा है और इसमें कई आधुनिक सुविधांए भी होंगी. श्राइन बोर्ड के मुताबिक इस नए ट्रैक पर हाई-टेक शेल्टर बनाये जायेगे, जिसका डिजाईन तैयार करने के लिए कई कंपनियों से बात चल रही है. इसके साथ ही इन शेल्टर्स पर सोलर पैनल भी लगाए जायेंगे ताकि इस ट्रैक पर बिजली की समस्या से निपटा जा सके.

Courtesy: ABPNews

Categories: India