छोटेपुर को हटाते ही बिखरी आप, 13 में से 7 जोनल इंचार्ज हुए केजरीवाल के खिलाफ

छोटेपुर को हटाते ही बिखरी आप, 13 में से 7 जोनल इंचार्ज हुए केजरीवाल के खिलाफ

भास्कर न्यूज | नई दिल्ली/चंडीगढ़

सुच्चासिंह छोटेपुर अब आम आदमी पार्टी के लिए सुच्चे नहीं रहे। टिकट के लिए पैसे लेने के आरोप में पार्टी ने छोटेपुर को पंजाब स्टेट चीफ यानी कन्वीनर पद से हटा दिया है। हालांकि, वे पार्टी से सस्पेंड या निकाले नहीं गए। मामले की जांच उनके जूनियर जरनैल सिंह और जसबीर सिंह की कमेटी करेगी। शुक्रवार को दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के घर पर मीटिंग के बाद सांसद भगवंत मान ने बताया कि छोटेपुर पर गंभीर आरोप हैं। सबूत के तौर पर वीडियो के अलावा एक लेटर भी है। पंजाब के दो दर्जन नेताओं ने केजरीवाल को चिट्ठी लिख कार्रवाई की मांग की थी। वहीं, छोटेपुर के खिलाफ कार्रवाई होते ही आप की पंजाब इकाई दोफाड़ हो गई है। आप के 13 में से 7 संसदीय जोन के इंचार्ज, कई विंगों के पदाधिकारियों ने छोटेपुर की लीडरशिप पर भराेसा जताते हुए चंडीगढ़ में प्रेस कान्फ्रेंस कर केजरीवाल के खिलाफ बयान दिए। इनमें आनंदपुर साहिब जोन के जसबीर धालीवाल, जालंधर के एचएस चीमा, बठिंडा के नरिंदरपाल शर्मा भगता भाईका, अमृतसर के गुरिंदर बाजवा, गुरदासपुर के अमरदीप गिल, खडूर साहिब के इकबाल सिंह और पटियाला के करनैल सिंह शामिल हैं। {शेष| पेज-8

सवाल: दिल्ली वाले कौन?

-संजयसिंह और दुर्गेश पाठक। इन्होंने ही शेरगिल के घर पर मुझे हटाने की साजिश रची।

{आपकेखिलाफ स्टिंग हुआ। आप पैसे लेते दिखाए गए। पार्टी कह रही है कि आपने जीरा में एक एनआरआई को टिकट का वादा कर 60 लाख रुपए मांगे थे।

-मैंचैलेंज करता हूं कि पार्टी स्टिंग का वीडियो सार्वजनिक करे। ये मुझे हटाने का बहाना है। अक्टूबर 2015 में बरगाड़ी कांड के बाद एक मीटिंग में मैंने कहा था कि अमृतसर जोन के इंचार्ज ने आॅब्जर्वर पर सीट बेचने के आरोप लगाए हैं और कहा है कि 50 फीसदी सीटें तो बिकेंगी। इस पर दुर्गेश भड़क गए। ‘भाड़ में जाए पार्टी’ कहकर चले गए। एक महीने तक हममें बात नहीं हुई।

{तोफिर अब तक साथ में काम कैसे करते रहे?

-नवंबरमें दिल्ली में मीटिंग हुई। वहां मैंने कहा कि पंजाब में पावर सेंटर दुर्गेश हैं। इन्हें ही टिकट बांटनी हैं। ओहदे भी इन्होंने ही दिए। ये चाहेंगे तो ही पार्टी एकजुट रहेगी। इस पर भी दुर्गेश नाराज हो गए। तब से वे मेरे खिलाफ हैं।

{क्यादूसरे पार्टी नेताओं ने विवाद खत्म करने की कोशिश नहीं की?

-फूलका,खैहरा और कंवर संधू ने मुझे सुबह फोन करके कहा था कि प्रेस कॉन्फ्रेंस करूं। लेकिन, मैं अपनी बात रखना चाहता था।

आगे कहा- पार्टीमें मेरी तरह पंजाबियत की बात करने वाले हाशिए पर धकेले जा रहे हैं। दिल्ली वाले पूरा कंट्रोल अपने हाथ में लेना चाहते हैं। केजरीवाल पंजाब की पूरी पावर अपने पास ही रखना चाहते हैं। लेकिन, मैं कठपुतली नहीं। पार्टी में जो भी गलत हो रहा है, उसके खिलाफ आवाज उठाने की वजह से मुझे हटाया जा रहा है।

छोटेपुर, सिद्धू अौर परगट आएं तो स्वागत: कांग्रेस

^छोटेपुर,नवजोत सिंह सिद्धू, परगट सिंह और इंद्रबीर बुलारिया जैसे नेता अगर कांग्रेस में आते हैं तो स्वागत करेंगे। इन नेताओं काे दरकिनार किया गया है। हालांकि, अभी किसी से संपर्क नहीं है। -कैप्टनअमरिंदर सिंह, प्रदेश प्रधान

मायने | कांग्रेस को फायदा… आमआदमी पार्टी में मचे घमासान से कांग्रेस की बांछें खिल गई हैं। दरअसल, आम आदमी पार्टी में रवायती पॉलिटिक्स वाला वोट बैंक ही ज्यादा गया हुआ है जो सरकार से नाराज है। उनके सामने आप और कांग्रेस दो ही विकल्प हैं, जिस तरह से आम आदमी पार्टी में दरार पड़ गई है उससे निराश वोट बैंक कांग्रेस को ही विकल्प के रूप में देखेगा। वैसे, छोटेपुर यदि नाराज वालंटियर्स , डॉ धर्मवीर गांधी और स्वराज पार्टी को एक धागे में पिरोने का काम कर सकें तो आप के लिए बड़ा खतरा हो सकता है।

ये सफाई… छोटेपुरपर लगे आरोपों पर जोन इंचार्जों ने कहा, पंजाब में कारसेवा का कल्चर है और साधुओं को दान देने पर रसीद नहीं मिलती। रसीदों की जरूरत चोरों को होती है। छोटेपुर को हम 40 साल से जानते हैं।

ये हैं आरोप… भगवंतमान ने शुक्रवार को बताया, ‘आरोप है कि छोटेपुर ने टिकट के बदले एक नेता से 60 लाख रुपए मांगे। सौदा 30 लाख में तय हुआ। उसने चार लाख रुपए दे भी दिए। इसमें से छोटेपुर ने 3 लाख रुपए लौटा दिए, जबकि एक लाख खुद रख लिए।’

यूथ मैनिफेस्टो के कवर पेज पर श्री दरबार साहिब के फोटो के साथ झाड़ू छापी गई, तो मैंने कह दिया कि मुझे कवर पेज नहीं दिखाया गया। इस पर केजरीवाल ने मुझसे कहा, आप झूठ बोल देते। तब मैंने उनसे कहा कि मुझे पंथ से निष्कासित किया जा सकता था। इस पर केजरीवाल ने कहा- तो क्या होता अगर आपको सिखी से निकाल दिया जाता।

Courtesy: Bhaskar

Categories: Politics
Tags: AMR, Amritsar, latest, MAT, news, OMC, PUN

Related Articles