बाबा रामदेव ‘पतंजलि आस्था’ ब्रांड से पूजा सामग्री कारोबार के मैदान में उतरेंगे

बाबा रामदेव ‘पतंजलि आस्था’ ब्रांड से पूजा सामग्री कारोबार के मैदान में उतरेंगे

pooja-580x354

नई दिल्ली: एफएमसीजी सेक्टर में जबर्दस्त सफलता हासिल करने के बाद अब बाबा रामदेव दीया, बाती और धूपबत्ती यानी पूजा सामग्री के कारोबार पर भी अपना परचम लहराना चाहते हैं. इसके लिए पतंजलि ने ऐलान किया है कि ‘योग गुरू’ बाबा रामदेव अब आस्था के बाजार में उतरने को तैयार हैं. कुछ ही दिनों में ‘पतंजलि आस्था’ के नाम से लॉन्च होने जा रहे इस सेगमेट में पूजा सामग्री जैसे अगरबत्ती, धूपबत्ती, दीपक, सामग्री वगैरह का उत्पादन किया जाएगा और प्रोडेक्ट बेचे जाएंगे. बाबा रामदेव जो योग गुरू के नाम से मशहूर हैं उनकी पतंजलि कंपनी ने अभी तक आयुर्वेद की दवाईयों के अलावा घरेलू उपयोगी सामग्री भी बनाकर बाजारों में स्वदेशी उत्पाद के रूप में खासी लोकप्रियता प्राप्त कर ली है. अब बाबा की कंपनी ने पूजा पाठ में उपयोगी सामग्री को भी बनाने का फैसला किया है.

‘पंतजलि आस्था’ के बारे में पतंजलि के प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए कहा है कि 135 करोड़ लोगों में से पतंजलि आस्था का लक्ष्य 100 करोड़ लोगों को प्राकृतिक पूजन सामग्री के उपत्पाद पहुंचाना है. इस समय बाजार में केमिकल युक्त पूजन सामग्री बिक रही है जो स्वास्थ्य और पर्यावरण दोनों के लिए खतरनाक है. लिहाजा पतंजलि ब्रांड के तहत दीवाली के पहले मार्केट में 100 से ज्यादा हर्बल प्रोडक्ट लाए जाएंगे. पतंजलि आस्था के उत्पाद पूरी तरह केमिकल रहित होंगे. पतंजलि आयुर्वेद के मैनेजिंग डायरेक्टर आचार्य बालकृष्ण ने कहा, ‘हम एक नया ब्रैंड आस्था तैयार कर रहे हैं. रिसर्च से पता चला है कि कई जमी-जमाई कंपनियां अगरबत्ती, धूप जैसे उत्पादों में कैमिकल का इस्तेमाल कर रही हैं, जिससे ग्राहकों को नुकसान हो रहा है. इस सेगमेंट में प्राकृतिक उत्पाद की जरूरत है जिसे पतंजलि आस्था पूरी करेगी.

इनमें पूजा में इस्तेमाल होने वाले सभी तरह के प्रोडक्ट मसलन अगरबत्ती, धूप बत्ती, चंदन, तिलक, हवन सामग्री, दीया, थाली आदि शामिल होंगे. पतंजलि की अगरबत्ती और हवन सामग्री पहले से मार्केट में आ चुकी है. ये प्रोडक्ट अगले 2 महीनों यानी दीवाली तक बाजार में आएंगे. इतना ही नहीं आस्था के जरिए पतंजलि की छोटी जगहों पर रोजगार के अवसर पैदा करने की भी योजना है. पूजा-पाठ प्रोडक्ट के जरिए रामदेव की 5 करोड़ लोगों को रोजगार देने की योजना है. इसके लिए दीवाली से पहले पतंजलि 1500 डीलरों से समझौता कर सकती है और इसकी पहुंच 3 लाख से ज्यादा स्टोर्स तक हो जाएगी. कंपनी ने अपने रिटेल आउटलेट के जरिये पूरे देश में अपना नेटवर्क खड़ा कर दिया है. फ़िलहाल 5 हजार करोड़ के वार्षिक टर्नओवर वाले इस पतंजलि आयुर्वेदिक ने धार्मिक आस्था को भुनाने की तैयारी शुरू कर दी है.

पतंजलि आस्था के उत्पाद निश्चित तौर पर स्टोर्स में मौजूद होंगें. कंपनी के प्रॉडक्ट्स का डिस्ट्रीब्यूशन शुभकार्ट करेगी. गौरतलब है कि शुभकार्ट वही ऑनलाइन मार्केटप्लेस है, जो धार्मिक और अध्यात्म से जुड़े प्रॉडक्ट्स को ही खासतौर पर बेचता है. पूजा सामग्री सेगमेंट काफी तेज गति से कारोबारी बढ़त हासिल कर रहा है और दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन इससे खूब कमाई कर रही है. 2 साल पहले आई टी सी भी इस सेगमेंट में दाखिल हुई और इसने मंगलदीप ब्रैंडनेम से अगरबत्ती बाजार में उतारी.

पतंजलि की भविष्य की योजनाएं
पिछले वित्त वर्ष में बाबा रामदेव के पतंजलि ब्रांड ने करीब 150 फीसदी इजाफे के साथ 5000 करोड़ रुपये का कारोबार किया और इस वित्त वर्ष में पतंजलि का 10 हजार करोड़ रुपये का राजस्व कमाने का लक्ष्य है. एफएमसीजी सेक्टर से आ रही मांग पूरी करने के लिए पतंजलि इस साल 1000 करोड़ रुपये से 3 मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स भी लगाने की तैयारी में है. इसके अलावा 150 करोड़ रुपये रिसर्च पर खर्च करने और 10 से 12 कंपनियों को पतंजलि के प्रोडक्ट्स एक्सपोर्ट करने का भी लक्ष्य है. वहीं इसी दीवाली तक पतंजलि करीब 1500 डीलर्स के साथ टाईअप के माध्यम से 3 लाख से ज्यादा स्टोर खोलने की तैयारी में जुटी हुई है.

Courtesy: ABPNews

 

Categories: Finance

Related Articles