ट्रेड यूनियनों की शुक्रवार की हड़ताल का क्‍या होगा असर, 10 खास बातें

ट्रेड यूनियनों की शुक्रवार की हड़ताल का क्‍या होगा असर, 10 खास बातें

trade-union-protest-pti_650x400_51472707183

नई दिल्‍ली.: बैकिंग, टेलीकॉम और कई अन्‍य क्षेत्रों के लाखों कर्मचारी शुक्रवार को हड़ताल पर रहेंगे. यह कर्मचारी बेहतर वेतन के साथ सरकार की नई श्रमिक और निवेश नीतियों के विरोध में यह कदम उठा रहे हैं.

मामले से जुड़ी 10 खास बातें…
  1. बैंक, सरकारी ऑफिस और फैक्‍टरियां बंद रहेंगी. कुछ राज्‍यों में स्‍थानीय संगठनों ने भी हड़ताल में भागीदारी का फैसला किया है. इसके कारण सार्वजनिक परिवहन व्‍यवस्‍था पर भी असर पड़ सकता है.
  2. कोयला और ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि पावर प्‍लांटों के संचालन के लिए पर्याप्‍त कोयला है. यदि अगले 50 से 60 दिनों में भी खनन नहीं होता तो भी पावर प्‍लांट इससे प्रभावित नहीं होंगे.
  3. सरकार की ओर से संचालित कोल इंडिया लिमिटेड के कर्मचारी भी शुक्रवार की हड़ताल में शामिल होंगे.
  4. कोल इंडिया की स्थिति में आया बदलाव मोदी सरकार की प्रमुख सफलता रहा है. कंपनी इस समय इतना अधिक कोयला उत्‍पादन कर रही है कि पहली बार इसके निर्यात पर भी विचार किया जा रहा है.
  5. आल इंडिया ट्रेड यूनियंस कांग्रेस और सेंटर ऑफ इंडियन ट्रेड यूनियंस जैसे संगठनों ने हड़ताल नहीं करने की सरकार की ओर से मंगलवार को की गई अपील ठुकरा दिया था. इन संगठनों का कहना है कि सरकार उनकी मांगों को पूरा करने में नाकाम रही है.
  6. इन संगठनों की आपत्ति बीमा और रक्षा जैसे क्षेत्रों में विदेशी निवेश के नियमों के शिथिल करने को लेकर है. घाटे में चल रहे सार्वजनिक उपक्रमों को बंद करने की योजना का भी श्रमिक संगठन विरोध कर रहे हैं.
  7. मौजूदा वित्‍तीय वर्ष में सरकार ने निजीकरण और कुछ कंपनियों को बंद करके करीब 55,907 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्‍य निर्धारित किया है. सरकार की ओर से संचालित 77 कंपनियों को घाटा बढ़कर 26, 700 करोड़ रुपए तक पहुंच गया है.
  8. ट्रेड यूनियनों की हड़ताल को खत्‍म करने के प्रयासों के तहत वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को कहा था कि सरकार अपने कर्मचारियों का पिछले दो साल का बोनस जारी करेगी. इसके साथ अकुशल श्रमिकों के न्‍यूनतम वेतन में इजाफे की बात भी कही गई है.
  9. ट्रेड यूनियनें सरकारी पेंशन फंड और स्‍टॉक मार्केट में अधिक पैसा लगाने के सरकार के दिशानिर्देशों का भी विरोध कर रही हैं.
  10. बीजेपी के वैचारिक संगठन, आरएसएस से संबद्ध भारतीय मजदूर संघ इस हड़ताल में शामिल नहीं हो रहा है.

 

Courtesy: NDTV

Categories: India