बस्ती में छात्रा को लेकर भागा प्रधानाचार्य, पाक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार

बस्ती में छात्रा को लेकर भागा प्रधानाचार्य, पाक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार

बस्ती   छात्रा को छात्र तथा शिक्षक का छात्रा को भगाने के साथ ही शिक्षिका का छात्र को भगा ले जाने के मामले अक्सर सुखिर्यों में रहते हैं। बस्ती जिले में तो मामला बिल्कुल ही जुदा निकला। यहां के हर्रैया के दुबौलिया में एक प्रधानाचार्य कक्षा 11 की एक छात्रा को भगाकर अपने साथ ले गया। हंगामा होने पर पाक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज करने के बाद पुलिस ने कल प्रधानाचार्य को गिरफ्तार कर लिया।

बस्ती में यह मामला कप्तानगंज के विशेषरगंज के इंटर कालेज का है। यहां पर गुरु शिष्य की पवित्र परंपरा भूल प्रधानाचार्य ने छात्रा पर ही डोरे डालना शुरू दिया। प्रेमजाल में फांसने के बाद प्रधानाचार्य खेल दिवस पर 29 अगस्त की शाम उसे बहला फुसलाकर भगा ले गया। यहां का प्रधानाचार्य रमेश कुमार शर्मा छावनी के सरसंडा गांव का निवासी है। छात्रा को भगा ले जाने के मामले में परिवार के लेगों ने कल ग्रामीणों के साथ स्कूल का घेराव कर प्रदर्शन किया।

ग्रामीणों के आक्रोश और मामले को गरमाता देख दुबौलिया पुलिस सक्रिय हुई। आरोपी प्रधानाचार्य को छावनी से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बालिका को उसके चंगुल से मुक्त कराकर महिला अस्पताल में चिकित्सकीय परीक्षण को भेज दिया। छात्रा के पिता की तहरीर पर आरोपी प्रधानाचार्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया। इन पर पाक्सो एक्ट (प्रोटेक्शन ऑफ चाइल्ड फ्रॉम सेक्सुअल ओफेन्स एक्ट) भी लगा है।

अभिभावकों ने स्कूल गेट पर जड़ा ताला

विरोध प्रदर्शन के दौरान यह भी बता चला है कि स्कूल के प्रबंधक ने भी साल भर पहले क्षेत्र की एक युवती को भगाकर शादी कर ली थी। पुलिस ने किसी तरह लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया।

तीन साल पुराना है स्कूल

जिस स्कूल की यह घटना है उसमें कक्षा 6 से 12 तक की कक्षाएं चलती हैं। यह तीन साल पहल स्थापित हुआ था। इसमें वर्तमान में सौ से अधिक छात्र-छात्राएं यहां पढ़ रहे हैं।

साल भर पहले रमेश कुमार शर्मा पुत्र देशराज शर्मा ने यहां पर प्रधानाचार्य का पद संभाला था। पद संभालने के बाद विद्यालय में ही पढऩे वाली छात्र पर उसकी नजर गड़ गई और डोरे डालने लगा। स्कूल में बातचीत का शुरू हुआ सिलसिला घर तक पहुंच गया। वह छात्र से फोन पर अक्सर बातचीत भी करता रहता था।

बिना मान्यता के चल रहा स्कूल

जिस इंटर कालेज की यह घटना है,वह बिना मान्यता के चल रहा है। यह बात चर्चा में आने के बाद खंड शिक्षाधिकारी शैलेन्द्र कुमार ने जांच पड़ताल शुरू कर दी।

बताया यह सही है कि विद्यालय बगैर मान्यता के चल रहा है। उन्होंने स्कूल में घटी घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए विद्यालय प्रबंधक के खिलाफ कार्यवाही करने की बात कहीं है।

Courtesy :Jagran.com

Categories: Crime