स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा ने आधिकारिक तौर पर निशानेबाजी से संन्यास का एलान किया

स्वर्ण पदक विजेता बिंद्रा ने आधिकारिक तौर पर निशानेबाजी से संन्यास का एलान किया

नई दिल्ली, प्रेट्र ।ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता अभिनव बिंद्रा ने रविवार को आधिकारिक तौर पर निशानेबाजी से संन्यास का एलान किया। उन्होंने कहा कि यह आगे बढ़ने और नई पीढ़ी के हाथों में कमान सौंपने का वक्त है।राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एनआरएआइ) के विदाई समारोह के दौरान बिंद्रा ने कहा, ‘मेरी खेल में रुचि है, लेकिन इससे मुझे पर्याप्त पैसा नहीं मिलने वाला। मैं पहले से कुछ और भी करता रहा हूं और खेल से ही जुड़े क्षेत्रों जैसे फिटनेस और मेडिकल वगैरह से जुड़ना चाहता हूं। आज के खेलों के लिए स्पोर्ट साइंस और स्पोर्ट मेडिसिन बहुत ही महत्वपूर्ण हैं। मुझे नहीं लगता कि हमारे देश में अब तक इस पर गहराई से सोचा गया है।’

लगभग एक दशक तक देश में निशानेबाजी का पर्याय बने रहने वाले 34 वर्षीय बिंद्रा ने कहा, ‘देश में खेलों की हालत तभी सुधरेगी, जब हम जमीनी स्तर पर काम करेंगे। इसके लिए कार्यक्रम तैयार करने, तंत्र विकसित करने और लोगों को खेल से जोड़ने की जरूरत होगी। इस काम के लिए विशेषज्ञों के साथ ही धैर्य और इच्छाशक्ति का होना भी जरुरी है। इसके लिए काफी धन और तकनीक की जरूरत भी पड़ेगी।’

निशानेबाजों से सवाल नहीं करूंगा

बिंद्रा रियो ओलंपिक में निशानेबाजों के प्रदर्शन की समीक्षा के लिए बनाई गई पांच सदस्यीय समिति के प्रमुख भी हैं। उन्होंने कहा कि रियो में टीम का एक सदस्य होने के नाते मेरा बाकी निशानेबाजों से सवाल करना सही नहीं होगा। उन्होंने कहा कि पीछे की गलतियों के बजाय यह देखना चाहिए कि हम आगे बेहतर कैसे कर सकते हैं। रियो में पदक से चूकने के सवाल पर उन्होंने कहा, ‘मेरे हिसाब से चौथे स्थान पर आना, मेरे करियर का अच्छा अंत था।’

Courtesy: Jagran.com

Categories: Sports

Related Articles