तांत्रिक के बहकावे में पिता ने मासूम बेटी को जिंदा दफन किया

तांत्रिक के बहकावे में पिता ने मासूम बेटी को जिंदा दफन किया

अमरोहा  हसनपुर तहसील में थाना सैद नगली के अल्लीपुर भूड़ शर्की उर्फ ढक्का मोड़ गांव निवासी ग्रामीण तांत्रिक के बहकावे में आकर अपनी बच्ची का कातिल बन बैठा। सूखा रोग से पीडि़त तीन माह की बच्ची को मौत भी ऐसी दी कि सुनने वालों के रोंगटे खड़े हो जाएं। बच्ची को जिंदा ही हांडी में बंद कर जमीन में दफना दिया। पड़ोसियों ने जब मां से बच्ची के बारे में पूछा तो उसने राज उगला।

गांव निवासी खालिद उर्फ सुक्वा का केवल दस साल का बेटा आदिल स्वस्थ है जबकि तीन बच्चों की सूखा रोग से मौत हो चुकी है। चौथी तीन माह की बच्ची नाहिद भी इसी रोग से पीडि़त थी। गरीबी से जूझ रहा खालिद इलाज करा रहा था। इसी किसी तांत्रिक ने उसे बचाव के नाम पर ऐसा तरीका बता दिया कि पिता ही मासूम का कातिल बन गया। तांत्रिक की सलाह पर खालिद ने नाहिद को जिंदा ही हांडी में बंद कर रविवार की रात एक बाग में गड्ढा खोदकर दबा दिया।

सोमवार दोपहर बच्ची के बारे में मां से पड़ोस की महिलाओं ने जानकारी ली तो उसने राज उगल दिया। ग्रामीण महिला को साथ लेकर मौके पर पहुंचे और हांडी को बाहर निकाला, पर बच्ची की मौत हो चुकी थी। पुलिस बच्ची की मां हुस्नजहां से पूछताछ कर रही है। आरोपी फरार है। थानाध्यक्ष मुस्तकीम अली ने बताया कि शव पोस्टमार्टम को भेजा गया है। रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी।

Courtesy :Jagran.com

Categories: Crime

Related Articles