25 लाख लेने के स्टिंग में फंसा भाई, हार्दिक ने बताया- मोदी-शाह की साजिश

नई दिल्ली: पाटीदार नेता हार्दिक पटेल से अलग हुए लोगों और कारोबारियों ने एक स्टिंग ऑपरेशन जारी किया है. इस स्टिंग में हार्दिक के चचेरे भाई रवि पटेल 30 लाख रुपये लेते हुए दिखाई पड़ रहे हैं. स्टिंग वायरल होने के बाद अब हार्दिक पटेल ने पुरे मामले से किनारा कर दिया है. हार्दिक पटेल ने साफ किया कि यदि उनके भाई का कोई भी व्यक्तिगत लेन देन होता हैं तो उससे उनका कोई लेना देना नहीं है. वहीं इस मामले में उन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह पर साजिश करने का आरोप लगाया है.

हालांकि हार्दिक ने कहा है कि वीडियो में कहीं भी वो नजर नहीं आ रहे हैं और मोदी और अमित शाह के इशारे पर इस तरह की सीडी को वायरल किया गया है. उन्होंने कहा कि यदि वे कभी भी रूपये लेते हुए किसी वीडियो में कैद होंगे तो समाज के लोग उनके खिलाफ हो सकते है.

हार्दिक ने साफ किया कि उन्हें पहले से ही अंदेशा था कि उनके खिलाफ इस तरह के षडयंत्र किये जायेंगे और उनके आन्दोलन को कमजोर करने की कोशिश की जाएगी, लेकिन उनके समाज के लोगों ने उन पर विश्वास जताया गया है और वे कभी भी उनका विश्वास नहीं तोडेंगें. हार्दिक ने कहा कि वे सामाजिक काम करते हैं और इस तरह के हथकंडे से उनके सामाजिक आन्दोलन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. बता दें कि महेश सवाणी और मुकेश पटेल नाम के दो लोगों ने ये स्टिंग जारी किया है. मुकेश पटेल का दावा है कि हार्दिक पटेल ने ब्लैकमेल कर दोनों से पैसे मांगे थे.

स्टिंग करने वाले करने वाले मुकेश पटेल का कहना है कि अब जब गुजरात में बड़ी तादात में पाटिदार लोग इकट्ठा हो रहे हैं. तो हार्दिक को लग रहा था कि उनकी नेतागिरी छिन जाएगी, क्योंकि उन्होंने अब तक समाज के लिए कोई स्टैंड नहीं लिया था.

Courtesy: ABPNews

Categories: Politics

Related Articles