न्यूजीलैंड सीरीज के लिए टेस्ट टीम का सिलेक्शन आज: रोहित के सपोर्ट में हैं कोहली, जडेजा को दो बॉलर्स से मिल रहा चैलेंज

न्यूजीलैंड सीरीज के लिए टेस्ट टीम का सिलेक्शन आज: रोहित के सपोर्ट में हैं कोहली, जडेजा को दो बॉलर्स से मिल रहा चैलेंज

मुंबई.न्यूजीलैंड के खिलाफ 22 सितंबर से शुरू हो रही तीन टेस्ट की सीरीज के लिए संदीप पाटिल की अगुअाई वाली सिलेक्शन कमेटी सोमवार को मीटिंग करेगी। संभावना है कि उनके सामने रोहित बड़ी परेशानी बनकर आएंगे। रोहित को कप्तान कोहली का सपोर्ट हासिल है लेकिन उनकी परफॉर्मेंस पर सवाल उठते रहे हैं। कोहली का मानना है कि वनडे एक्सपर्ट रोहित को टेस्ट फॉर्मेट में ज्यादा मौके दिए जाने चाहिए। रोहित वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज में भी टीम में थे। क्यों जगह पक्की नहीं कर पाए रोहित

– वनडे मैचों में सबसे बड़े पर्सनल स्कोर का रिकॉर्ड रखने वाला मुंबई का यह बैट्समैन टेस्ट क्रिकेट में कभी जगह पक्की नहीं कर पाया जबकि 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत में लगातार दो सेन्चुरी जड़कर टेस्ट करियर की शानदार शुरुआत की थी।
– रोहित के पास कई तरह के स्ट्रोक हैं लेकिन वे लगातार अच्छा परफाॅर्म करने में नाकाम रहे और इसलिए प्लेइंग इलेवन से अंदर-बाहर होते रहे।
– 148 वनडे खेल चुके रोहित ने अब तक 18 टेस्ट खेले हैं। उनके नाम दो सेन्चुरी और चार हाफ सेन्चुरी हैं। 32.62 के एवरेज से उन्होंने अब तक 946 रन बनाए हैं।
– वेस्ट इंडीज के खिलाफ पिछले दो टेस्ट में वे कुछ खास नहीं कर पाए थे।

जडेजा को किससे चुनौती?
– रविंद्र जडेजा को चाइनामैन बॉलर कुलदीप यादव और लेग स्पिनर अमित मिश्रा से चुनौती मिल रही है।
– कुलदीप ने इंडिया रेड की तरफ से दलीप ट्रॉफी में 13 विकेट लिए थे।
– अमित ने वेस्टइंडीज के खिलाफ चार में से दो टेस्ट मैच खेले और वे रविचंद्रन का साथ देने के लिए टीम में जगह बनाने के मजबूत दावेदार हैं।
– जडेजा ने 17 टेस्ट खेलकर 495 रन बनाए हैं और 71 विकेट लिए हैं।
– वेस्टइंडीज के खिलाफ 10 से ज्यादा विकेट लेने वाले फास्ट बॉलर मोहम्मद शमी की एंट्री पक्की है। वे सबसे एक्सपीरियंस्ड इशांत शर्मा के साथ मिलकर पेस अटैक संभालेंगे।

टीम को खेलने हैं 13 टेस्ट
– भारत को फरवरी-मार्च 2017 तक के सेशन में 13 टेस्ट मैच खेलने हैं।
– ऐसे में सिलेक्टर्स फास्ट बॉलर्स को रोटेट करने की स्ट्रैटजी अपना सकते हैं।
– वरुण आरोन जैसे फास्ट बॉलर्स को भी सेशन के दौरान किसी समय टीम में रखा जा सकता है।

गंभीरमयंक के नाम पर भी हो सकता है विचार
– ओपनर गौतम गंभीर और मयंक अग्रवाल के नामों पर भी विचार हो सकता है। दोनों ने ही दलीप ट्रॉफी में अच्छा परफॉर्म किया है।

कबकब होने हैं मैच
– पहला टेस्ट 22 सितंबर से कानपुर में खेला जाएगा। इसी के साथ टीम के होम सीजन की शुरुआत होगी।
– 7 साल बाद ग्रीन पार्क स्टेडियम, कानपुर को मेजबानी मिली है।
– इस मैदान पर पिछला मैच इंडिया-श्रीलंका के बीच नवंबर 2009 में खेला गया था।
– दूसरा टेस्ट 30 सितंबर से 4 अक्टूबर के बीच कोलकाता में और तीसरा टेस्ट 8 से 12 अक्टूबर के बीच इंदौर में खेला जाएगा।
– सैयद मुश्ताक अली का शहर इंदौर पहली बार टेस्ट की मेजबानी करेगा।
– बता दें कि भारतीय टीम इस सीजन में घरेलू मैदानों पर 13 टेस्ट, 8 वनडे और 3 टी20 मैच खेलेगी।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Sports