मीरजापुर में राहुल ने कहा किसान दर्द में हैं और मोदी विदेश में

मीरजापुर में राहुल ने कहा किसान दर्द में हैं और मोदी विदेश में

वाराणसी ये किसानों की यात्रा है। हमारी सरकार में किसान हमारे पास आए और कर्ज माफी की मांग की। विपक्ष ने कहा, पैसा कहां से आएगा। इसके बावजूद कांग्रेस ने 70 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया। अगर हमारी सरकार फिर आएगी तो किसानों का सौ फीसद कर्ज 10 दिन के भीतर माफ होगा। उससे पहले हम मोदी को बताना चाहते हैं कि किसान दर्द में हैं।

हमारी सरकार में शुरुआत गरीबों से होती है। जिनको दर्द है, कांग्रेस पहले उन्हें मदद देती है। बीते 2 साल में मोदी ने 1 लाख 10 हजार करोड़ का कर्ज माफ किया वो भी अमीरों का। लाखों किसानों के दर्द से उन्हें मतलब नहीं है। कांग्रेस की सरकार में मनरेगा के चलते गांव में सबसे तेज तरक्की हुई। मोदी कहते हैं कि मैं इस योजना को बंद नहीं करना चाहता क्योंकि लोग देखें कि कांग्रेस ने क्या गलती की। अब किसान और मजदूरों का पैसा अमीरों को दिया जा रहा है।

यहां से सड़क मार्ग से जनसंपर्क करते हुए राहुल गांधी कंतित शरीफ दरगाह में मत्था टेकेंगे और इस के बाद विंध्याचल मंदिर दर्शन करेंगे। किसान यात्रा तिलथीगांव बाजार होते हुए गोपीगंज से भदोही होते हुए हंडिया इलाहाबाद पहुंचेगी। रात्रि विश्राम के बाद 15 सिंतबर को राहुल गांधी इलाहाबाद में गांधी, नेहरू तथा चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमाओं पर करते हुए यात्रा आरंभ करेंगे। वहां से यूनिवर्सिटी चौराहा, कटरा बाजार हो कर मदन मोहन मालवीय की मूर्ति पर माल्यार्पण करेंगे।

वहां से कमला नेहरू रोड होते हुए फायरब्रिगेड चौक से जन संपर्क करते हुए इलाहाबाद के विभिन्न मार्गों से होकर पूरा मुफ्ती कौशांबी पहुंचेगे और टेवा में आयोजित खाट सभा में शामिल होंगे। वहां से गांधी यात्रा लेकर लूपलाइन चौराहा से होते हुए कर्वी चित्रकूट में पहुंचेंगे। राहुल किसान यात्रा के सातवें दिन 164 तथा 8वें दिन 143 किमी की दूरी तय करेंगे।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics