प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कानून-व्यवस्था हुई तार तार !

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कानून-व्यवस्था हुई तार तार !

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कानून-व्यवस्था तार-तार हो चुकी है। पुलिस और कानून का कोई खौफ नहीं रह गया है। शौच के लिए निकली एक नाबालिग लड़की वहशी दरिंदों के हाथ लग गई। नाबालिग को अगवा करने के बाद तीन लड़कों ने उसके संग गैंगरेप किया। पीडि़ता की मामी की शिकायत पर पुलिस ने दो सगे भाइयों समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

काशी के चोलापुर थाना क्षेत्र के भोपापुर गांव में चौबेपुर के अलई गांव की पंद्रह वर्षीय बालिका अपने मामा के यहां रहती है। पीडि़ता की मामी की ओर से चोलापुर थाने में दर्ज मुकदमा के अनुसार शनिवार को भोर में उनकी भांजी शौच के लिए निकली थी। इसी दौरान गांव के तीन लड़कों ने उसे पकड़ लिया और अगवा करने के बाद गांव के बाहर सिवान में बने एक कमरे में ले गए। वहां तीनों आरोपियों गोरख, अनुज और कौशल ने नाबालिग के साथ दुराचार के साथ ही अप्राकृतिक दुष्कर्म भी किया। हवस की आग बुझाने के बाद तीनों ने पीडि़ता को गांव के बाहर लाकर छोड़ दिया और मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी दी।

मामा के घर पहुंची पीडि़ता ने परिजनों को अपने साथ हुई घिनौनी हरकत की जानकारी दी। गांव में पंचायत के बाद परिजन थाने पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ दुराचार, अपहरण, पाक्सो एक्ट की धाराओं में मुकदमा कायम कराया। मुकदमा कायम करने के बाद पुलिस ने दबिश देकर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। नाबालिग का मेडिकल कराने की कार्रवाई शुरु कर दी गई है।

दुराचार के मामले में कुछ जानकारियां भी पुलिस के हाथ लगी है। आरोपियों में शामिल गोरख व अनुज सगे भाई हैं और परिजनों के साथ गुजरात के सूरत में रहकर पढ़ाई-लिखाई करते हैं। बीते दिनों गोरख व अनुज के चाचा का निधन हो गया था जिसके कारण त्रयोदशाह संस्कार में शामिल होने वे पिता के साथ पुश्तैनी गांव चोलापुर के भोपापुर गांव आए थे। आरोपियों के परिजनों का कहना है कि एक वर्ष पूर्व उनका पीडि़ता के मामा से जमीन के विवाद को लेकर झगड़ा हुआ था। पुरानी रंजिश के चलते मामा ने अपनी भांजी को मोहरा बनाकर उनके बेटों को फंसाया है।

पुलिस का मामले में कहना है कि पीडि़ता के बयान और मुकदमे के आधार पर आरोपियों को गिरफ्तार करने के साथ ही पीडि़ता का मेडिकल कराया जा रहा है। चिकित्सकीय परीक्षण में बहुत सारी बातें स्पष्ट हो जाएंगी।

Courtesy: Patrika.com

Categories: Crime

Related Articles