PAK को घेरने की स्ट्रैटजी: आर-पार के मूड में सरकार, आर्मी को फ्री-हैंड; बॉर्डर पर बढ़ सकता है फोर्स का मूवमेंट

PAK को घेरने की स्ट्रैटजी: आर-पार के मूड में सरकार, आर्मी को फ्री-हैंड; बॉर्डर पर बढ़ सकता है फोर्स का मूवमेंट

नई दिल्ली. उड़ी में सेना पर हुए अब तक के सबसे बड़े हमले पर भारत का माकूल जवाब क्या हो? सरकार सोमवार को इसपर चर्चा में जुटी रही। पीएम ने कई लेवल पर स्ट्रैटजी पर बात की। इसके बाद सेना ने पाकिस्तान को चेतावनी भी दे दी। नरेंद्र मोदी राष्ट्रपति से भी मिले। वहीं, सरकार ने मंगलवार को सर्वदलीय बैठक बुला ली। जानकारी के मुताबिक, सोमवार दोपहर बाद एकाएक तेज हुई इस हलचल को बॉर्डर पर फोर्स के मूवमेंट या किसी ऑपरेशन की शुरुआत से जोड़कर देखा जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान को हर सूरत में इस हमले का जवाब दिया जाएगा। कैसे जवाब देने की तैयारी कर रहा है भारत…

– ये जवाब कई तरीकों से दिए जाएंगे। जिसमें उसे इंटरनेशनल फोरम पर अलग-थलग करने की बात शामिल है।
– इससे पहले सोमवार को दिन में पीएम के घर हुई हाई लेवल मीटिंग में पाकिस्तान को दुनिया में अलग-थलग कर आतंकवादी देश घोषित करवाने की स्ट्रैटजी पर चर्चा हुई। डिप्लोमैटिक और इकोनॉमिक फ्रंट पर भी पाकिस्तान को एग्रेशन दिखाने पर बात की गई।
– सूत्रों के मुताबिक, भारत ने इस स्ट्रैटजी के तहत अमेरिका और रूस के साथ बात भी की है।
– विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी यूएन में जोर-शोर से उड़ी हमले का मुद्दा उठाएंगी।

स्ट्रैटजी को लेकर दिनभर रही हलचल

– सुबह 11:40 बजेः आर्मी चीफ रहे केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि भावनाओं के आधार पर कोई फैसला नहीं किया जा सकता। पीएम ने कहा है सही समय आने पर सही फैसला लिया जाएगा।
– 11:46 बजेः यूएन जनरल सेक्रेटरी बान की मून और अमेरिका ने हमले की निंदा की। वहीं, फ्रांस ने कहा कि आतंकवाद के साथ भारत की लड़ाई में उसका साथ है।

– दोपहर 12:11 बजेः अलगाववादियों ने कश्मीर समेत तीन जिलों पुलवामा और बारामुला में प्रदर्शन बुलाया। जहां प्रशासन ने कर्फ्यू लगा दिया।

– 1:25 बजेः पाकिस्तान ने आरोप नकारे। पाक पीएम के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा कि भारत कश्मीर से ध्यान हटाने के लिए पाक पर आरोप लगा रहा है। भारत जांच होने से पहले हम पर आरोप लगा रहा है।

– शाम 6:51 बजेःमोदी राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मिले। उन्होंने दिनभर में हुई मीटिंग पर ब्रीफ किया। मोदी ने कहा, सेना को सही समय पर पाक पर कार्रवाई करने की इजाजत दे दी गई है। सर्वदलीय बैठक भी बुलाई गई है।

– रात 8:00 बजे:ये खबर आई कि पाक को अलग-थलग करने की भारत की पहली कोशिश रंग लाई। रूस ने पाक के साथ ज्वाइंट मिलिट्री ड्रिल और तीन एमआई-35 हेलिकॉप्टर बेचने की डील कैंसल कर दी। जापान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, फ्रांस अमेरिका, यूएन ने भी भारत को अपना सपोर्ट दिया।

चीन की चिंताः पीओके में इकोनॉमिक कॉरिडोर को नुकसान नहीं पहुंचे
– चीन भी इस हमले से सकते में हैं। चीन के विदेशमंत्री ने कहा, ”पीओके में 46 अरब डॉलर के गलियारे काे क्षेत्रीय देशों को आगे बढ़ाने के लिए बनाया जा रहा है। इस पर रुकावट नहीं आनी चाहिए।”
– चीनी राजनयिक जेची ने भारत की एनएसजी सदस्यता और मौलाना अजहर मसूद के बैन के मुद्दे को लेकर चीनी राष्ट्रपति को चिट्ठी लिखी है।
– इसमें लिखा, चीन भारत के साथ नरम रवैया नहीं अपनाता है तो उसे नुकसान उठाना पड़ेगा।
– चीन हर तरह के आतंकवाद का विरोध करता है और उसकी कड़े शब्दों में निंदा करता है।

भारत के पास ये हैं ऑप्शन

uriu09_1474336124

– बॉर्डर क्रॉस किए बगैर हमला: बगैर बॉर्डर क्रॉस किए मोर्टार से जोरदार हमला करके पाक के आर्मी पोस्ट्स और बंकर्स को खत्म कर दिया जाए। हालांकि, एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इसमें जवाबी हमला भी होगा।
– ऑपरेशन पराक्रम-2: भारत सरकार सेना को पाकिस्तान से लगी सीमा पर तैनात कर सकती है, जैसा की 2001 में संसद पर हुए हमले के बाद तब के पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने किया था। इसे ऑपरेशन पराक्रम नाम दिया गया था। इसमें सेना 11 महीने तक पाक सीमा पर तैनात थी।

आतंक की डुगडुगी पीटने के लिए पाक पर लग रहे आरोप

– द न्यूज इंटरनेशनल

भारत के हाई सिक्योरिटी आर्मी कैंप पर हमला महज ड्रामा है। ये भारत का जाली फ्लैग ऑपरेशन है और उड़ी खासतौर पर चुना गया है, क्योंकि यहां की सिख बहुल आबादी कश्मीर के मुसलमानों के संघर्ष में मदद कर सकती थी।

– द एक्सप्रेस ट्रिब्यून

एलओसी के करीब हुए इस आतंकवादी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान में जुबानी-जंग शुरू हो चुकी है और परमाणु शक्ति-संपन्न दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है।

– द पाकिस्तान ऑब्जर्वर

भारत के आरोप निराधार हैं। पाकिस्तानी जमीन से किसी तरह की घुसपैठ नहीं हुई है, क्योंकि एलओसी के दोनों तरफ कड़ी सुरक्षा है। भारत के पाक विरोधी बयान सिर्फ भड़ास हैं।

 

Courtesy: Bhaskar

Categories: India

Related Articles