एक साथ सामने आए अखिलेश-शिवपाल,एक्‍सपर्ट बोले- ये मैसेज पार्टी के लिए बेहतर

एक साथ सामने आए अखिलेश-शिवपाल,एक्‍सपर्ट बोले- ये मैसेज पार्टी के लिए बेहतर

लखनऊ. अखिलेश यादव ने मंगलवार को कैबिनेट बैठक बुलाई। बैठक के बाद शिवपाल यादव और अखिलेश एक साथ मीडिया के सामने आए और कहा कि समाजवादी परिवार जैसा था, वैसा ही है। हम सब मिलकर 2017 में समाजवादी सरकार बनाएंगे। इस दौरान सीएम ने ये भी कहा कि सांप्रदायिक ताकतें हावी होने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन हम प्रदेश की खुशहाली के लिए काम करेंगे। शिवपालअखिलेश साथसाथ बाहर आए

– आमतौर पर कैबिनेट मीटिंग के बाद शिवपाल यादव सीधे निकल जाया करते थे, जबकि अखिलेश मीडिया से बात करते थे।
– लेकिन आज नजारा बदला हुआ था। एनेक्सी हॉल में शिवपाल और अखिलेश करीब 2 मिनट तक साथ खड़े रहे।
– इसके बाद दोनों साथ-साथ बाहर आए और मीडिया से बातचीत के दौरान भी साथ रहे।
– दोनों के बराबर में मुस्कुराते हुए आजम खान भी मौजूद रहे।

एक दूसरे से नहीं की बात
– अखिलेश और शिवपाल यादव ने भले ही मीडिया को मैसेज देने की कोशिश की हो कि हम एक हैं, लेकिन अभी भी सब कुछ ठीक होता नजर नहीं आ रहा है।
– दरअसल, जब दोनों एनेक्सी हॉल में नीचे पहुंचे तो वे साथ में खड़े तो थे, लेकिन बात नहीं की।
– हॉल से लेकर गाड़ी से निकलने तक करीब 5 से 7 मिनट के दौरान दोनों ने एक दूसरे से बात नहीं की।

शिवपाल कभी नहीं रुकते हैं सीएम के साथ
– 20 सितंबर से पहले लगभग हर कैबिनेट मीटिंग में सीएम और शिवपाल एक साथ मीडिया के सामने नहीं आए।
– जब भी सीएम अखिलेश मीडिया से बात करते हैं तो शिवपाल और आजम खान निकल जाते हैं।

– इस दौरान मुस्कुराते हुए राजेंद्र चौधरी भी शिवपाल यादव के बगल में खड़े दिखे।

– वहीं, अरविंद सिंह गोप सबसे पीछे राजा भैया के साथ खड़े रहे।
– बता दें, शिवपाल के प्रदेश अध्यक्ष बनने के साथ ही राजेंद्र चौधरी को प्रवक्ता पद से हटा दिया गया था।
– अरविंद सिंह गोप को भी पार्टी के प्रमुख महासचिव पद से हटाया गया था।

क्या कहना है एक्सपर्ट्स का?

– सीनियर जर्नलिस्‍ट रतनमणि लाल कहते हैं कि यह मैसेज पार्टी और सरकार दोनों के लिए बेहतर है।
– जिस तरह से युवा नेताओं को बर्खास्त किया गया, उस पर सीएम अगर रिएक्ट करते तो बात बिगड़ जाती।
– इसका उन्‍हें खामियाजा भी भुगतना पड़ सकता था।

बदलेंगे फ्रंटल संगठन के पदाधिकारी

– सपा सूत्रों की मानें तो फ्रंटल संगठन में अब नए पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।
– जिन नेताओं को बर्खास्त किया गया है या जिन्होंने इस्तीफा दिया है, उनकी जगह नए लोगों को लाया जाएगा।
– वहीं, कुछ कार्यकर्ताओं ने बताया कि अखिलेश को बर्खास्तगी की कारवाई के बारे में पता था।
– कुछ कार्यकर्ताओं ने बताया कि सीएम ने कुछ लोगों को खुद इस्तीफा देने से रोका है। हालांकि, उन्होंने इस्तीफा न देने की अपील सबसे की थी।

6 अक्टूबर को होगी एतिहासिक रैली
– प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद शिवपाल यादव अब मुलायम की रैली को एतिहासिक बनाने में जुट गए हैं।
– 6 अक्टूबर को आजमगढ़ में मुलायम की रैली होनी है, जिसके लिए आजमगढ़ मंडल के सभी जिलाध्यक्षों और विधायकों के साथ बैठक हुई है।
– इस रैली में भारी भीड़ जुटाने के लिए सभी लोगों को बोल दिया गया है।

मुलायम संदेश यात्रा का पहला चरण हुआ खत्
– 10 सितंबर से शुरू हुई मुलायम संदेश यात्रा का पहला चरण मंगलवार को खत्म हुआ।
– अब 25 सितंबर को मुलायम सिंह फिर से इस संदेश रथ को रवाना करेंगे।
– इस यात्रा का दूसरा चरण दिल्ली से शुरू होगा, जो पूर्वी यूपी का दौरा करेगा।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Politics

Related Articles