US में पहली बार: PAK को आतंकी देश करार देने की पिटीशन को रिकॉर्ड 6.65 लाख वोट

US में पहली बार: PAK को आतंकी देश करार देने की पिटीशन को रिकॉर्ड 6.65 लाख वोट

वॉशिंगटन. पाकिस्तान को आतंकी देश करार देने के लिए लगाई गई पिटीशन अमेरिका की सबसे पॉपुलर पिटीशन बनने जा रही है। इसे अब तक 6 लाख 65 हजार 769 वोट मिल चुके हैं। यानी ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन का रिस्पॉन्स आने के लिए जरूरी आंकड़े से पांच गुना ज्यादा। इससे पहले किसी भी व्हाइट हाउस पिटीशन को 3.5 लाख से ज्यादा वोट नहीं मिले हैं।किसी भी पिटीशन को 3.5 लाख से ज्यादा वोट नहीं मिले

– पिटीशन के मुताबिक, ‘हम लोग अमेरिकी एडमिनिस्ट्रेशन से अपील करते हैं कि पाकिस्तान को एक आतंकी देश घोषित किया जाए।’
– सोमवार तक पिटीशन पर 6 लाख 13 हजार 830 लोगों ने साइन किए थे।
– मंगलवार को हुई फाइनल काउंटिंग में 51 हजार 939 वोट और जुड़ गए। इस लिहाज से पिटीशन को मिले कुल वोटों की संख्या 6 लाख 65 हजार 769 पहुंच गई है।
– वोटों के लिहाज से इस पिटीशन को अमेरिकी की अब तक की सबसे पॉपुलर पिटीशन बताया जा रहा है। किसी भी पिटीशन को 3.5 लाख से ज्यादा वोट नहीं मिले हैं।
– हालांकि इस बात की भी संभावना है कि व्हाइट हाउस पूरी जांच करने के बाद ही फाइनल टैली जारी करेगा।
– बता दें कि ओबामा एडमिनिस्ट्रेशन के पिटीशन पर विचार करने के लिए 1 लाख वोट मिलना जरूरी है।

– इस तरह की पिटीशंस की परंपरा 2011 में शुरू हुई थी।
हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में लाया गया बिल

– 21 सितंबर को हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में रिपब्लिकन सांसद टेड पो ने एक अन्य सांसद डाना रोहराबेकर के साथ ‘पाकिस्तान स्टेट स्पॉन्सर ऑफ टेररिज्म डेजिग्नेशन एक्ट (HR 6069)’ पेश किया था।
– पो, हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में टेररिज्म पर बनी सबकमेटी के चेयरमैन भी हैं।
– पो के मुताबिक, “अब वक्त आ गया है कि हम पाकिस्तान को उसकी दुश्मनी निकालने के लिए पैसा देना बंद कर दें। उसे वो घोषित कर देना चाहिए जो वो है।”
– पो ने ये भी कहा, “पाकिस्तान एक ऐसा सहयोगी है जिसपर भरोसा नहीं किया जा सकता। वह कई सालों से अमेरिका के दुश्मनों को मदद दे रहा है।”
– पो ने साफ शब्दों में कहा, “मैं भारत में कश्मीर में आर्मी बेस पर हुए हमले की कड़े शब्दों में निंदा करता हूं। इस हमले में भारत के 19 जवान शहीद हो गए। भारत हमारा एक करीबी सहयोगी है।”

पो ने और क्या कहा था?
– पो ने पाकिस्तान पर ये भी आरोप लगाए, “पाक ने ओसामा बिन लादेन को अपने यहां शरण दी। उसके हक्कानी नेटवर्क से भी अच्छे ताल्लुकात हैं। ये सबूत बताते हैं कि टेररिज्म के खिलाफ छेड़े वॉर में पाकिस्तान किस तरफ है।”
– “साथ ही बराक ओबामा को बिल पर 90 दिन में रिपोर्ट देनी होगी कि पाकिस्तान, इंटरनेशनल टेररिज्म को सपोर्ट करता है या नहीं।”

सिग्नेचर प्रॉसेस में क्या खास?
– पिटीशन को सपोर्ट करने के लिए सोशल मीडिया पर लोगों ने जमकर हिस्सा लिया।
– पिटीशन पर 24 घंटे के भीतर 1 लाख लोगों ने साइन कर दिया।
– अमेरिका की ये पहली पिटीशन है जिसने 5 लाख सिग्नेचर का आंकड़ा पार किया है। फिलहाल सिग्नेचर प्रॉसेस बंद हो चुकी है।
– बता दें कि बलूच-अमेरिकन लोगों ने भी “फ्री बलूचिस्तान फ्रॉम पाकिस्तान इलीगल ऑक्यूपेशन” नाम से पिटीशन लगाई है।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: International

Related Articles