कबड्डी वर्ल्ड कप में भारत को मिली पहली जीत, ऑस्ट्रेलिया को 54-20 से हराया

कबड्डी वर्ल्ड कप में भारत को मिली पहली जीत, ऑस्ट्रेलिया को 54-20 से हराया

अहमदाबाद। ट्रांसस्टाडिया में शुक्रवार को दक्षिण कोरिया के हाथों चौंकाने वाली हार झेलने के बाद भारतीय टीम ने कबड्डी विश्व कप-2016 के अपने दूसरे ग्रुप मुकाबले में शनिवार को कमजोर ऑस्ट्रेलिया को 34 अंकों के भारी अंतर से रौंदकर अपना खाता खोला।

एशियाई और मौजूदा विश्व चैम्पियन भारत को खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा है लेकिन अपने पहले ही मैच में कोरिया के हाथों पिटने के बाद उसकी साख पर बट्टा लगने लगा था। इसकी भरपाई उसे अपने दूसरे मैच में बड़ी जीत से करनी थी। भारतीय खिलाड़ियों ने अपना दमखम तथा अनुभव दिखाते हुए आस्ट्रेलिया को 54-20 के स्कोर से हरा दिया।

भारत ने शुरुआत से ही मैच पर अपनी पकड़ बना ली और मध्यांतर तक 32-7 की भारी बढ़त ले ली। मध्यांतर तक के ही स्कोर ने भारत की जीत पक्की कर दी थी। अब देखना यह था कि दूसरे हाफ में भारत कितने अंक जुटाता है और क्या केन्या द्वारा अब तक जुटाए गए सर्वाधिक 54 अंकों की बराबरी कर पाता है या नहीं।

भारत ने अंतिम पलों में राहुल चौधरी द्वारा जुटाए गए अंकों की मदद से केन्या के स्कोर की बराबरी की। भारत ने दूसरे हाफ में 22 अंक जुटाए लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने भी इस हाफ में खेल में सुधार करते हुए 13 अंक जुटाए।

मेजबानों ने रेड से 35 अंक जोड़े जबकि ऑस्ट्रेलिया ने रेड से 20 अंक हासिल किए। इसके अलावा मेहमान टीम टैकल, ऑल आउट से एक भी अंक नहीं जुटा पाई। उसे कोई भी अतिरिक्त अंक हासिल नहीं हुआ।मेजबान टीम टैकल से 10, ऑल आउट से आठ अंक लेने में सफल रही। वहीं उसे एक अतिरिक्त अंक भी मिला।

भारत ने इस मैच में अपने 11 खिलाड़ियों को मौका दिया। स्थानापन्न में सुरेंद्र नड्डा को छोड़कर बाकी सभी खिलाड़ी मैट पर उतरे और अंक जुटाए। सबसे अधिक सात अंक अजय ठाकुर ने बनाए जबकि राहुल चौधरी और दीपक हुडा ने छह-छह अंक बनाए। प्रदीप नरवाल और मंजीत चिल्लर के खाते में पांच-पांच अंक आए।

दूसरी ओर, ऑस्ट्रेलिया की ओर से भारतीय मूल के खिलाड़ी कुलदीप सिंह ने सबसे अधिक सात अंक बनाए जबकि कप्तान कैम्पबेल ब्राउन ने अपनी टीम को छह अंक दिए। मैच के बाद भारत के कप्तान अनूप कुमार ने कहा, “बेशक आस्ट्रेलिया की टीम कमजोर थी, लेकिन हम अपनी पूरी ताकत से खेले।

अब भारत को 11 अक्टूबर को अपने तीसरे ग्रुप मैच में बांग्लादेश से भिड़ना है। इससे पहले, ग्रुप-ए में ही बांग्लादेश ने अपने पहले मुकाबले में इंग्लैंड को 52-18 से हराकर मंशा जता दी है। भारत को आगे जाना है तो उसे बांग्लादेश को हर हाल में हराना होगा क्योंकि कोरिया और बांग्लादेश के रूप में दो ही टीमें थीं, जो उसे ग्रुप में टक्कर दे सकती थीं और एक से वह हार गया है और एक से मुकाबला बाकी है।

Courtesy: jagran.com

Categories: Sports