कानपुर में गर्भवती न्यायिक मजिस्ट्रेट की निर्मम हत्या

कानपुर में गर्भवती न्यायिक मजिस्ट्रेट की निर्मम हत्या

कानपुर कानपुर देहात में तैनात गर्भवती न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वितीय प्रतिभा गौतम की कल छावनी में आफीसर्स कालोनी निवासी निर्मम हत्या कर दी गई। हत्यारों ने इसके बाद प्रतिभा का गला घोटकर शव फंदे पर लटका आत्महत्या का रूप देने का प्रयास किया।

हत्या को आत्महत्या दिखाने के लिए हत्यारों ने उनके दोनों हाथों की कलाई की नस काट दी। पुलिस और फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए है। एसएसपी शलभ माथुर ने कहा कि प्रतिभा के भाई की तहरीर पर पति व ससुराल वालों के खिलाफ हत्या और दहेज उत्पीडऩ की रिपोर्ट दर्ज कर छानबीन की जा रही है।

मूल रूप से उरई के राजेंद्र नगर की बैंक कॉलोनी निवासी सेवानिवृत्त बैंक कर्मी राजाराम गौतम की बेटी प्रतिभा गौतम कानपुर देहात, माती में 2015 से तैनात थीं। उन्होंने इसी वर्ष 29 जनवरी को दिल्ली के 7ए/61 डब्ल्यूईए चन्ना मार्केट करोलबाग निवासी सेवानिवृत्त जज सुरेश चंद्र राजन के वकील बेटे मनु अभिषेक से प्रेम विवाह किया था।

छुट्टियां होने पर वह दिल्ली में पति के पास जाती थीं। मनु के मुताबिक परसों भी प्रतिभा शताब्दी एक्सप्रेस से दिल्ली से गई थीं। मनु ने उन्हें स्टेशन से ले लिया। स्टेशन से निकलने के बाद दोनों का किसी बात पर विवाद हो गया। इसके बाद रास्ते में ही प्रतिभा कार से उतर गईं। मनु के अनुसार उन्होंने प्रतिभा का फोन मिलाया तो वह बंद था।

रात नौ बजे के करीब प्रतिभा का फोन मिला तो उन्होंने बताया कि वह कानपुर लौट आई हैं। इस पर मनु भी कानपुर आने के लिए कार से निकल पड़े। सुबह सात बजे के आसपास जब मनु प्रतिभा के घर पहुंचे तो उनके घर का दरवाजा अंदर से बंद था। कई बार आवाज देने पर भी दरवाजा नहीं खुला तो मनु ने दरवाजा तोड़ दिया।

अंदर जाकर देखा तो बेडरूम में पंखे के सहारे दुपट्टे के फंदे से प्रतिभा का शव लटक रहा था। दोनों हाथों की कलाइयों की नसें कटी थीं। मनु के मुताबिक उसने हड़बड़ाहट में शव नीचे उतारा और पुलिस को सूचना दी, जिस पर डीआइजी नीलाब्जा चौधरी, एसएसपी शलभ माथुर फारेंसिक टीम के साथ पहुंचे। अधिकारियों ने छानबीन करने के साथ ही पति व अन्य लोगों से पूछताछ की।

गला घोंटकर हत्या की पुष्टि

कल देर रात डीएम के आदेश पर डिप्टी सीएमओ डॉ. एपी मिश्रा, डॉ. अनुपम सचान, डॉ. रत्नेश ठाकुर व जिला महिला चिकित्सालय डफरिन की डॉ. अनीता गौतम के पैनल ने प्रतिभा के शव का पोस्टमार्टम किया। पोस्टमार्टम में गला घोटकर हत्या करने की पुष्टि हुई है। प्रतिभा करीब साढ़े तीन माह की गर्भवती थीं। पैनल ने गर्भाशय, नाखून सुरक्षित किए हैं। इसके साथ ही स्लाइड भी बनाई है।

तीन महीनों से प्रेगनेंट

कानपुर देहात में तैनात अतिरिक्त जिला जज प्रतिभा गौतम कानपुर में सरकारी आवास में रहती थीं। वह मनु से प्रेम विवाह करने के बाद एक बार भी अपने घर नहीं गईं और वे तीन महीनों से प्रेगनेंट थीं। बताया जा रहा है कि इस बीच पति-पत्नि के संबंधों में तनावपूर्ण स्थिति थी। प्रतिभा की मौत से एक दिन पहले दोनों के बीच झगड़ा भी हो रहा था। इसके बाद जज गौतम का फोन स्विच ऑफ हो गया। आधी रात को फोन ऑन हुआ।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime