अश्विन हैं या जादू की छड़ी… इन दिनों टेस्‍ट क्रिकेट में सब कुछ परफेक्‍ट कर रहे

अश्विन हैं या जादू की छड़ी… इन दिनों टेस्‍ट क्रिकेट में सब कुछ परफेक्‍ट कर रहे

करिश्मे का दूसरा नाम रविचंद्रन अश्विन…. भारतीय क्रिकेटप्रेमियों में यह जुमला इन दिनों लोकप्रिय होता जा रहा है. अश्विन इन दिनों जिस तरह से कामयाबी की नई इबारत लिख रहे हैं, उसे देकर कई कोई हैरान है. गेंदबाजी हो या बल्‍लेबाजी, वे टीम इंडिया के लिए भरोसे का पर्याय बन चुके हैं.

वेस्‍टइंडीज के खिलाफ हाल ही में हुई सीरीज में अश्विन ने जो कामयाबी हासिल की थी, न्‍यूजीलैंड के खिलाफ वे उसी को पूरी शिद्दत के साथ आगे बढ़ा रहे हैं. अश्विन आज टीम इंडिया के टेस्‍ट कप्‍तान विराट कोहली के सबसे भरोसेमंद खिलाड़ी बन चुके हैं. ऐसा नहीं कि यह भरोसा सिर्फ गेंदबाजी में ही है. इस क्षेत्र में तो अश्विन टीम इंडिया के ट्रंप कार्ड लंबे अरसे से हैं. खास बात यह है कि अब बल्‍लेबाजी में भी वे बढ़-चढ़कर योगदान कर रहे हैं. कप्‍तान विराट कोहली और कोच अनिल कुंबले ने बैटिंग की क्षमता को ध्‍यान में रखते हुए अश्विन को बैटिंग आर्डर में  प्रमोट किया. इस कसौटी पर वे पूरी तरह खरे उतरे और दो शतक जमा डाले.
इंडीज सीरीज का एक टेस्‍ट चढ़ गया था बारिश की भेंट
वेस्‍टइंडीज के खिलाफ सीरीज ने एक तरह से अश्विन को आलराउंडर के तौर पर स्‍थापित कर दिया. इससे पहले उन्‍हें ठीकठाक बल्‍लेबाज ही माना जाता था, लेकिन इस सीरीज में अश्विन ने चार मैचों में  58.75 के बेहतरीन औसत से 235 रन बना डाले, इसमें दो शतक शामिल थे. गेंदबाजी में तो कहने ही क्‍या, अश्विन ने सीरीज के चार मैचों में 23.17 के औसत से 17 विकेट लिए. यहां इस बात को भी ध्‍यान रखना होगा कि सीरीज का एक मैच पूरी तरह से बारिश की भेंट चढ़ गया था, नहीं तो अश्विन का गेंद-बल्‍ले का यह प्रदर्शन और भी बेहतर हो सकता था.

 न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पहले टेस्‍ट में लिए थे 10 विकेट

न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज को भी अश्विन अपने नाम पर करने को पूरी तैयार हैं. कानपुर के पहले टेस्‍ट की पहली पारी में उन्‍होंने चार और दूसरी पारी में छह शिकार (कुल 10 विकेट) किए. बल्‍ले से भी उन्‍होंने पहली पारी में 40 रन का योगदान दिया. इसी टेस्‍ट के दौरान उन्‍होंने अपने 200 टेस्‍ट विकेट (करियर का 37वां टेस्‍ट) पूरे किए और  डेनिस लिली और पाकिस्तान के वकार यूनुस को पीछे छोड़कर सबसे कम टेस्‍ट में 200 विकेट हासिल करने के मामले में दुनिया के दूसरे नंबर के गेंदबाज बन गए हैं. उनसे ऊपर सिर्फ ऑस्ट्रेलिया के पूर्व लेग स्पिनर क्लेरी ग्रिमेट हैं. कोलकाता के दूसरे टेस्‍ट में भी अश्विन पहली पारी में केवल एक विकेट मिलने की निराशा को दूसरी पारी में दूर किया और तीन विकेट अपने नाम किए. पहली पारी में बल्‍ले से भी उन्‍होंने 26 रन का योगदान दिया था.

इंदौर टेस्‍ट में उनके प्रदर्शन ने टीम इंडिया में जोश भरा
इंदौर टेस्‍ट में भी अश्विन ने अपने जोरदार गेंदबाजी प्रदर्शन से भारत को ड्राइविंग सीट पर ला दिया है. भारत के 557 रन (पारी घोषित) के स्‍कोर के जवाब में जब कीवी ओपनर शतकीय साझेदारी कर मजबूती से बढ़ रहे थे तभी अश्विन उनकी राह की बाधा बन गए. उन्‍होंने एक के बाद एक विकेट लेते हुए मेहमान टीम को बैकफुट पर ला दिया. मैच में अश्विन का जादू इस कदर चला कि एक समय बिना विकेट खोए 118 रन बनाने वाली न्‍यूजीलैंड की टीम देखते ही देखते मुश्किल में फंस गई. 148 रन तक पहुंचते-पहुंचते कीवी टीम ने पांच विकेट गंवा दिए. यहीं से टीम इंडिया ने मैच पर पकड़ मजबूत कर ली है. न्‍यूजीलैंड की पहली पारी 299 रन पर खत्‍म हुई.

न्‍यूजीलैंड के खिलाफ 5 बार पांच विकेट ले चुके हैं
न्‍यूजीलैंड की पहली पारी में अश्विन ने 81 रन देकर सर्वाधिक छह विकेट लिए. इसके साथ ही सीरीज में उनके विकेटों की संख्‍या 20 हो गई है. आज की इस गेंदबाजी के साथ अश्विन भारत के लिए न्‍यूजीलैंड के खिलाफ सबसे अधिक बार पांच विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं. उन्‍होंने यह कारनामा पांच बार किया है. स्पिनर बिशन सिंह बेदी, सुभाष गुप्‍ते, ईरापल्‍ली प्रसन्‍ना और तेज गेंदबाज जहीर खान कीवी टीम के खिलाफ चार-चार बार पांच विकेट ले चुके हैं. अश्विन के इस प्रदर्शन ने टेस्‍ट मैच के रोमांच को जीवंत कर दिया है और ‘क्‍लीन स्‍वीप’ की टीम इंडिया की उम्‍मीदों को मजबूत….

Courtesy: NDTV
Categories: Sports
Tags: Ashwin

Related Articles